• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • फिरौती के Rs.50 हजार देने के बहाने पुलिस ने बुलाकर किडनेपर पकड़े
--Advertisement--

फिरौती के Rs.50 हजार देने के बहाने पुलिस ने बुलाकर किडनेपर पकड़े

जयसिंहपुर खेड़ा में खंडोडा मोड के निकट स्थित एक ईंट-भट्ठे से 9 वर्षीय बच्चे के अपहरणकर्ताओं को बावल थाना पुलिस ने...

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 03:05 AM IST
जयसिंहपुर खेड़ा में खंडोडा मोड के निकट स्थित एक ईंट-भट्ठे से 9 वर्षीय बच्चे के अपहरणकर्ताओं को बावल थाना पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपियों को पैसे देने के बहाने कसौला चौक बुलाया तथा यहीं से गिरफ्तार कर लिया। पहले ईंट-भट्ठे पर ही काम करने एक श्रमिक ने बच्चे का अपहरण किया तथा बाद में उसका एक साथी भी उसके साथ वारदात में शामिल हो गया। आरोपियों की पहचान पश्चिम बंगाल के जिला कूचबिहार के गांव बासधानी भूरी गमारी निवासी मैईनल व उसके साथ छोटा गारोन जोहडा निवासी अजिजार रहमान के रूप में हुई है।

पहले से मुस्तैद थी पुलिस

बावल थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया। फोन पर संपर्क करने के बाद आरोपियों को पैसे देने के बहाने से रविवार काे कसौला चौक पर बुलाया गया था। यहां पहले से ही पुलिस मुस्तैद थी। दोनों बच्चे को लेकर कसौला चौक पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें मौके पर ही पकड़ कर बच्चे को बरामद कर लिया।


बच्चे के पिता के साथ ही काम करता था अपहरणकर्ता

पुलिस ने बताया कि पश्चिम बंगाल के जिला कूच बिहार के गांव रघुनंदन निवासी हरूण जयसिंहपुर खेड़ा गांव के खंडोडा मोड़ स्थित ईंट-भट्ठे पर काम करता है। 22 मार्च को हरूण का 9 वर्षीय बेटा अचानक गायब हो गया, जो कि बोलने में असमर्थ है। काफी तलाश करने के बाद भी बच्चे के बारे में कुछ भी पता नहीं लग पाया था। शाम को हरूण के मोबाइल पर पश्चिम बंगाल जिला कूचबिहार के गांव बासधानी भूरी गमारी निवासी मैईनल का फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि लड़का उसके कब्जे में है और तुम 50 हजार रुपए लेकर गुड़गांव के राजीव चौक पर आ जाओ, बच्चा मिल जाएगा। धमकी मिलने के बाद हरूण ने मामले की सूचना बावल थाना पुलिस को दी थी। हरूण ने बताया कि अपहरण का आरोपी उसके साथ जयसिंहपुर खेड़ा स्थित ईंट-भट्ठे पर काम करता था। पुलिस ने हरूण की शिकायत पर अपहरण का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

आज किया जाएंगे कोर्ट में पेश : आईओ