• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • रेवाड़ी में पहली बार 454 दिव्यांगों में से 170 को मिलीं मोटराइज्ड ट्राइसाइकिलें
--Advertisement--

रेवाड़ी में पहली बार 454 दिव्यांगों में से 170 को मिलीं मोटराइज्ड ट्राइसाइकिलें

रेवाड़ी में पहली बार 170 दिव्यांगजनों को मोट राईज्ड ट्राई साइकिल प्रदान की गई। इसके अलावा 3 मोट राईज्ड व्हील चेयर...

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 03:10 AM IST
रेवाड़ी में पहली बार 170 दिव्यांगजनों को मोट राईज्ड ट्राई साइकिल प्रदान की गई। इसके अलावा 3 मोट राईज्ड व्हील चेयर सहित कुल 454 दिव्यांगजनों को एक करोड़ 6 लाख रुपए के सहायक उपकरण प्रदान किए गए। यहां बाल भवन में हुए कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि पहुंचे जनस्वास्थ्य मंत्री डॉ. बनवारीलाल ने ये उपकरण वितरित किए।

उन्होंने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को अधिक से अधिक दिव्यांगजनों तक पहुंचाने के लिए दिव्यांगजनों की श्रेणी 7 से बढ़ाकर 21 कर दी गई है। पहली बार दिव्यांगजनों के लिए मैट्रिक पूर्व व मैट्रिक के बाद और विदेशी छात्रवृति शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि जो 80 प्रतिशत दिव्यांग है उनको बैट्री की मोटरसाइकिल प्रदान की जा रही हैं।

60 से अधिक उम्र के दिव्यांगों के लिए वे श्री योजना शुरू

मंत्री ने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए जिनके शरीर का कोई अंग कार्य करना बंद कर देता है, उसके लिए वे श्री योजना शुरू की है, उनके लिए भी भविष्य में शिविर लगाकर सहायक उपकरण नि:शुल्क प्रदान किए जाएंगे। भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) को 286 करोड़ रुपए खर्च करके आधुनिक बनाया गया है।

सहायक उपकरण मिलने पर दिव्यांगों में छाई खुशी, बैसाखी के साथ किया नृत्य

रेवाड़ी. बाल भवन में सहायक उपकरण वितरण समारोह में मिली मोटराइज्ड ट्राईसाइकिलों पर बैठे दिव्यांग।

रेवाड़ी. समारोह में महिला को मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल प्रदान करते जनस्वास्थ्य मंत्री डॉ. बनवारी लाल व अन्य।

100 सदस्यों ने संभाली मदद की कमान

कार्यक्रम के दौरान दिव्यांग मानसिंह ने मेरा दिल लेकर कोई इधर-उधर गीत पर बैसाखी के साथ नृत्य किया। कन्हैया लाल के नेतृत्व में संत निरंकारी के 100 सदस्यों ने दिव्यांगजनों की मदद को लेकर कमान संभाली। इस मौके पर व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक सतीश खोला, गुड़गांव निगरानी समिति के समन्वयक लक्ष्मण यादव, भाजपा जिला महामंत्री प्रीतम चौहान व अमित यादव, जिला पार्षद अजय, अनुसूचित जाति मोर्चा जिला अध्यक्ष गीता, बावल नपा प्रधान अमरसिंह, जिला रेडक्रास सचिव वाजिद अली, सहायक सचिव रवि हुड्डा, ज्योत्सना, डॉ. एके सैनी, रविन्द्र गोठवाल, एपीसीपीएल झज्जर के एजीएम बीके शर्मा, एचआर मैनेजर अजय प्रसाद, एलिम्को से एसके रथ सहित तमाम लोग थे।

दिव्यांगों को दिए गए ये उपकरण

दिव्यांगजनों को 170 मोट राईज्ड ट्राई साइकिल , 3 मोट राईज्ड व्हील चेयर, 57 ट्राई साइकिल , 60 व्हील चेयर, 244 सुनने की मशीनें, 13 सीपी चेयर, 124 क्रैचर्स, 18 को एमआर किट, 8 को स्मार्ट कैन, 31 कैलिपर्स, 12 कृत्रिम अंग, 2 एल्बो क्रैचर्स, 24 को वाकिंग स्टीक, 1 को डैजीप्लेयर व 9 को रोलेटर वितरित किए गए। जिला भाजपा अध्यक्ष योगेन्द्र पालीवाल ने भी अपने विचार रखे। एपीसीपीएल के सीईओ एनएन मिश्रा ने कहा कि सामाजिक दायित्व सीएसआर की पहल पर इस प्रकार के शिविरों का आयोजन भविष्य में होता रहेगा। एपीसीपीएल झज्जर सीएसआर के तहत 2017-18 में रेवाड़ी जिला के गांव लिलोढ़ व सुधराना सहित पांच गांवों में सामाजिक दायित्व की पहल पर कार्य कर रही है। एसडीएम कुशल कटारिया ने सरकार की कल्याणकारी नीतियों के बारे में बताया।