• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • रात 1.30 बजे समिति के समक्ष बच्ची को किया पेश, बोली- मुझे कोई उठाकर लाया
--Advertisement--

रात 1.30 बजे समिति के समक्ष बच्ची को किया पेश, बोली- मुझे कोई उठाकर लाया

तीन दिन पहले बावल में लावारिस हाल में मिली बच्ची बिहार के जिला सीतागढ़ी की रहने वाली है तथा परिवार के साथ खुशखेड़ा...

Danik Bhaskar | Mar 24, 2018, 03:15 AM IST
तीन दिन पहले बावल में लावारिस हाल में मिली बच्ची बिहार के जिला सीतागढ़ी की रहने वाली है तथा परिवार के साथ खुशखेड़ा में रहती है। शुक्रवार को बच्ची का परिवार मिलने के बाद इस बात का खुलासा है। उसके माता-पिता दोनों ही किसी फैक्ट्री में मजदूरी करते हैं। परिवार के बावल पहुंचने के बाद बावल थाना पुलिस ने रात को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने बच्ची के बयान कराए तथा इसके बाद बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया। बच्ची ने समिति सदस्यों को बताया कि उसे कोई उठाकर ले आया था। उसने अपने साथ गलत काम होने की भी बात कही, लेकिन वो नहीं जानती कि उसके साथ ये क्या दरिंदगी हुई।

चार साल पहले 6 वर्षीय बेटा भी हुआ था लापता

मजदूरी करने वाले दंपति के तीन बच्चे हैं। पीड़िता से बड़ी एक बच्ची तथा सबसे छोटा भाई है। इनमें से कोई भी स्कूल नहीं जाता। समिति सदस्य राकेश भार्गव ने कहा कि चार साल पहले इनका 6 वर्षीय बेटा घर से लापता हो गया था। उसकी भी पुलिस को शिकायत नहीं दी गई। अब परिवार को बच्चों को पढ़ाने के लिए समझाया गया है।

रात को ही ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने कराए गए बयान

रेवाड़ी के बाद रोहतक में हुआ ट्रीटमेंट, मेडिकल पुष्टि के साथ ही बच्ची ने बताया गलत काम हुआ

21 मार्च को बावल निवासी एक व्यक्ति को एक बच्ची लावारिश हाल में घूमते हुए मिली थी। बावल थाना पुलिस को बच्ची ने अपना नाम तो बताया लेकिन अपने पिता का नाम बताने में असमर्थ थी। बच्ची का अस्पताल मेडिकल परीक्षण कराया तो दुष्कर्म की बात सामने आई। शुक्रवार को अखबार में बावल में एक 6 साल की बच्ची मिलने की खबर छपी तो किसी ने खुशखेड़ा में किसी ने परिवार को जानकारी दी। परिवार के लोग बावल थाना पहुंच गए। यहां एएसआई सुनीता व अन्य पुलिसकर्मी परिवार के साथ बच्ची को लेकर रात को रेवाड़ी आए। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करने के बाद बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया। समिति चेयरपर्सन नलिनी यादव, सदस्य राकेश भार्गव, रजनी भार्गव व उपासना गुप्ता ने बच्ची से बातचीत कर घटना के बारे में जाना। रात को पुलिस के साथ बच्ची व परिवार को बावल भेज दिया गया।

फॉलोअप

23 मार्च को प्रकाशित खबर