• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • जिले में नशाखोरी और अवैध हथियारों से बढ़ रहा अपराध रोकने को सक्रिय हुई एसआईटी
--Advertisement--

जिले में नशाखोरी और अवैध हथियारों से बढ़ रहा अपराध रोकने को सक्रिय हुई एसआईटी

शहर में गुपचुप तरीके से नशाखोरी का कारोबार फैल रहा है। बाहर से गांजा, सुल्फा यहां तक की स्मैक तक की सप्लाई हो रही...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 04:10 AM IST
शहर में गुपचुप तरीके से नशाखोरी का कारोबार फैल रहा है। बाहर से गांजा, सुल्फा यहां तक की स्मैक तक की सप्लाई हो रही है। यह बात पुलिस भी मान रही है। अवैध हथियारों का भी जखीरा भी शहर में मौजूद है, इसी कारण हर छुटभैये बदमाश के हाथ में देसी कट्टे हैं। जो कि आए दिन वारदातों को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। शहर से इस अपराध पर अब पुलिस की स्पेशल इंवेस्टिगेटिंग टीम (एसआईटी) सख्ती से कार्रवाई करेगी। इंस्पेक्टर राजेंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम ने अपना काम शुरू भी कर दिया है।

जो कि संदिग्ध और संगीन मामलों में निर्भीकता से कार्रवाई करेगी। अपराधियों पर पूरा शिकंजा कसने के लिए यह टीम बनाई गई है। एसआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर राजेंद्र सिंह ने बताया कि हमने शहर में कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्हें खुद भी शिकायतें मिली हैं कि शहर के अंदर गांजा और स्मैक तक का नशा किया जा रहा है। नशा करने के बाद बदमाशों की मंशा अपराध को अंजाम देने की हो जाती है। कई वारदातों के पीछे नशा वजह बनता है। नशाखोरी का जल्द ही खत्म कर दिया जाएगा। पहले जगह-जगह शराब बेचने व पीने-पिलाने की शिकायतें थी, जिन पर काफी हद तक शिकंजा कस दिया गया है। स्कूलों और आसपास अपराधों पर लगाम लगाने के लिए भी तेजी से काम किया जाएगा।

नकेल कसने की तैयारी; आए दिन हो रहीं वारदातों पर शिकंजा कसने को बनी कमेटी

दिल्ली के तड़ीपार अपराधी से एक अौर पिस्तौल बरामद, मामा के घर छिपाई थी

धारूहेड़ा | धारूहेड़ा के नंदरामपुर बास में हत्या के प्रयास मामले में पकड़े गए दिल्ली से तड़ीपार बदमाश विक्की उर्फ गोलू का दो दिन का रिमांड गुरुवार को खत्म हो गया। पूछताछ के दौरान पुलिस ने एक और पिस्तौल बरामद की है। आरोपी ने यह पिस्तौल अपने ही मामा के घर छिपाकर रखी थी। आरोपी से दो पिस्तौल पहले ही बरामद की जा चुकी है।

दिल्ली से तड़ीपार करने के बाद आरोपी नंदरामपुर बास मे अपने मामा फतेह सिंह के पास रह रहा था। फतेह सिंह की गांव के ही कुलदीप व उसके भाई गिरीराज से पुरानी रंजिश चली आ रही है। 28 जनवरी की रात को आरोपी गोलू उर्फ विक्की ने कुलदीप व उसके भाई गिरीराज को मारने की नीयत से उन पर गोली चला दी। गोली दोनों भाईयों को लगने की बजाय दीवार मे लगी थी। मामले में पुलिस ने आरोपी गोलू के साथ ही उसके मामा नंदरामपुर बास निवासी फतेह सिहं को भी गिरफ्तार किया तथा विक्की को दो दिन के रिमांड पर लिया था। पुलिस ने बताया कि आरोपी यह पिस्तौल यूपी से लेकर आया था।

एटीएम उखाड़कर ले जाने के मामले में आरोपियों का नहीं लगा सुराग

रेवाड़ी | एनएच-8 पर गांव खिजूरी के पास से एटीएम मशीन उखाड़कर ले जाने के मामले में बदमाशों का सुराग नहीं लग पाया है। आरोपियों तक पहुंचने के लिए पुलिस द्वारा गुरुवार को आसपास के सीसीटीवी कैमरों की जांच की। सीसीटीवी जांचने के लिए पुलिस धारूहेड़ा तथा बावल एरिया के प्रतिष्ठानों तक भी पहुंची, लेकिन अभी काेई खास साक्ष्य हाथ नहीं लग पाया है।

गांव खिजूरी के पास आईसीआईसीआई बैंक का एटीएम बूथ है। इस बूथ पर सुरक्षाकर्मी तैनात नहीं है, इस कारण इस पर रात के समय ताला लगा दिया जाता है। मंगलवार रात को भी इसका शटर बंद था। देर रात बदमाशों ने बूथ में सेंध लगा दी तथा ताला तोड़कर मशीन उखाड़ ली। बदमाश इस मशीन को ही लेकर फरार हो गए। सुबह एटीएम शहर का ताला टूटा देखा तो वारदात का पता लगा। धारूहेड़ा थाना पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू की है।