• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • बीएससी कृषि कॉलेज बावल के लिए अलग बजट की उठी मांग, ताकि बेहतर हो संचालन
--Advertisement--

बीएससी कृषि कॉलेज बावल के लिए अलग बजट की उठी मांग, ताकि बेहतर हो संचालन

रेवाड़ी| बावल स्थित कृषि अनुसंधान केंद्र में चल रहे बीएससी कृषि कॉलेज के शिक्षा सत्र 2018-19 में अलग से बजट का प्रावधान...

Danik Bhaskar | Mar 15, 2018, 04:10 AM IST
रेवाड़ी| बावल स्थित कृषि अनुसंधान केंद्र में चल रहे बीएससी कृषि कॉलेज के शिक्षा सत्र 2018-19 में अलग से बजट का प्रावधान करने की मांग उठने लगी है। इसे लेकर दक्षिण हरियाणा विकास लोक मंच ने सीएम को पत्र भी लिखा है।

मंच के अध्यक्ष बाबू जगजीत सिंह व महासचिव प्रो. रणबीर सिंह यादव ने कहा कि बीएससी कृषि कॉलेज बावल की यह समस्या वर्ष 1995 से चली आ रही है। क्योंकि हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार ने कभी भी नियमित रूप से इस कॉलेज को बजट अलॉट नहीं किया और वर्ष 1995 में इस कॉलेज की कक्षाएं तदर्थ आधार पर शुरू कर दी गई। यहां न तो इस कॉलेज का अलग से बजट प्रावधान किया गया और न ही कॉलेज में नियमित स्टाफ की नियुक्ति की गई। इसके वजह से इस कॉलेज की कक्षाएं वर्ष 2000 में बंद कर दी गई। इसके बाद अब 2015-16 में कॉलेज की कक्षाएं पुन: शुरू की गई और ढांचागत सुविधाएं एवं स्टाफ के अभाव में कॉलेज की कक्षाएं कृषि कॉलेज कौल (कैथल) में स्थानांतरित कर दी गई। उन्होंने पत्र में कहा कि शिक्षा सत्र 2017-18 में कॉलेज की कक्षाएं पुन: बावल में शुरू की गई है। लेकिन अलग से बजट का कोई प्रावधान न होने के कारण अध्यापन का कार्य सुचारु रूप से संचालन नहीं हो पा रहा है। इससे विद्यार्थियों को भी परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने सीएम से इस सत्र में अलग से बजट का प्रावधान कराने की मांग की है।