Hindi News »Haryana »Bawal» उम्र के अनुसार देह की समझ बनाएं

उम्र के अनुसार देह की समझ बनाएं

जब तक देह है तब तक मौके रहेंगे। इसलिए शरीर को बचाए रखिए तो जीवन में अवसर बने रहेंगे। यदि आप इस विचार के प्रति...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 03:05 AM IST

उम्र के अनुसार देह की समझ बनाएं
जब तक देह है तब तक मौके रहेंगे। इसलिए शरीर को बचाए रखिए तो जीवन में अवसर बने रहेंगे। यदि आप इस विचार के प्रति असावधान रहे तो देह का दुरुपयोग कर जाएंगे। आज लोग उपलब्धि पाने में बावले हो रहे हैं। होना भी चाहिए। जीवन में एक से बढ़कर एक सफलताएं, उपलब्धियां आएंगीं लेकिन, पहली उपलब्धि आ चुकी है जिसे नज़रअंदाज न करें और वह है आपको मनुष्य का शरीर मिल गया है। इसलिए इसे उम्र से जोड़कर चलें। मोटे तौर पर होश में आने के बाद यदि इसे 10-10 साल के सात हिस्से में बांटें तो देह की समझ 10 वर्ष बाद आती है और समझ लें 80 वर्ष तक बनी रहती है। तो ऐसे 10-10 वर्ष में देह का उपयोग आप कैसे करेंगे, इसका स्पष्ट चार्ट बनाइए। क्योंकि हर 10 साल में देह की मांग, उसका उपयोग और समझ बदलती जाती है। एक छोटा-सा उदाहरण यह लें कि 50 की उम्र के बाद शरीर में इंद्रियां कुछ इस तरह से परिवर्तित होने लगती हैं कि देह का उपयोग बदल लेना चाहिए। जैसे कि 50 साल पहले देर से उठते हों तो अब कोशिश कीजिए कि सुबह जल्दी उठकर घूमने निकल जाएं। यह देह हर उम्र में अपने-अपने ढंग से प्रकृति से जुड़ना चाहती है और हर पड़ाव पर इसके प्रति एक अतिरिक्त समझ पैदा कीजिए। ध्यान रखिएगा, आखरी सांस तक देह के पास अवसर है कि आप उसका सही उपयोग कर मजे में जी सकें। यदि चूक गए, अवसर खो दिया तो इसी देह से बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।



पं. िवजयशंकर मेहता

humarehanuman@gmail.com

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bawal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×