• Hindi News
  • Haryana
  • Bawal
  • झाड़ू छोड़ नप सफाईकर्मी बैठे 3 दिन की भूख हड़ताल पर, मांगें नहीं मानने पर बेमियादी धरने की चेतावनी दी
--Advertisement--

झाड़ू छोड़ नप सफाईकर्मी बैठे 3 दिन की भूख हड़ताल पर, मांगें नहीं मानने पर बेमियादी धरने की चेतावनी दी

नगरपालिका कर्मचारी संघ की ओर से केंद्रीय कमेटी के आह्वान पर गुरुवार से झाडू छेड़ तीन दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी गई।...

Dainik Bhaskar

May 10, 2018, 03:10 AM IST
झाड़ू छोड़ नप सफाईकर्मी बैठे 3 दिन की भूख हड़ताल पर, मांगें नहीं मानने पर बेमियादी धरने की चेतावनी दी
नगरपालिका कर्मचारी संघ की ओर से केंद्रीय कमेटी के आह्वान पर गुरुवार से झाडू छेड़ तीन दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी गई। लेकिन नगर परिषद के अधिकारी हड़ताल की पहले से चेतावनी होने के बावजूद रेवाड़ी नप, नपा धारूहेड़ व बावल में में सफाई व्यवस्था के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था का इंतजाम नहीं कर सके। ऐसे में अगले दो दिन शहरवासियों को गंदगी से परेशानी उठानी पड़ सकती है।

जिला प्रधान ईश्वर सिंह ने बताया कि बुधवार की शाम को कर्मियों ने शहर में मशाल जुलूस निकालकर प्रशासन को चेताने का काम किया था। यूनियन की ओर से कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, समान वेतन समान काम, ठेका प्रथा बंद करने, खाली पड़े पदों को भरने सहित अन्य मांगों को पूरा करने की मांग की जा रही है। सर्वकर्मचारी संघ से संबंधित यूनियन पदाधिकारियों का कहना है कि 17 जुलाई 2017 काे सरकार व यूनियन के बीच मांगों को लेकर समझौता हो गया था। लेकिन आज तक एक भी मांग पूरी नहीं की गई।

बैंक कर्मियों ने मामूली वेतन वृद्धि को 10 लाख कर्मचारियों का बताया अपमान, सरकार को सबक सिखाने का आह्वान


भास्कर न्यूज | रेवाड़ी

सरकार(आईबीए) की आेर से 5 मई को बैंक कर्मचारियों के वेतन में 2 फीसदी वेतन वृद्धि के विरोध में गुरुवार को बैंक कर्मचारियों ने रेलवे जंक्शन के समीप स्थित एसबीआई की मुख्य शाखा के गेट पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने वेतन वृद्धि को मामूली बताते हुए इसे 10 लाख बैंककर्मियों का अपमान बताया। कर्मचारियों ने कहा बैंककर्मी एवं उनके परिवार वक्त आने पर सरकार को सबक सिखाने का काम करेंगे।

बैंक ऑफ इंडिया के ईश्वर सिंह, अशोक यादव, बीओबी से लोकेश यादव, यूनाइटेड बैंक से आरके सैनी, इलाहबाद बैंक से सुनील यादव, ओबीसी बैंक से प्रधान एमएस यादव, सुनील कुमार, रीजनल सेक्रेटरी पूर्ण सिंह, ऑफिसर यूनियन आईओबी शाखा सचिव अजीत सिंह ने कहा कि बीते चार वर्षों में कर्मचारियों ने सरकारी स्कीमों को सफल बनाने के लिए दिन-रात काम किया है। इनमें जन-धन योजना, फसल बीमा योजना, मुद्रा लोन, एवं कोटबंदी में कर्मियों ने सब कुछ त्यागकर सरकार को फायदा पहुंचाया। लेकिन आईओबी की ओर से 2 फीसदी वेतन वृद्धि का प्रस्ताव निंदनीय है। क्षेत्रीय सचिव अविनाश यादव व जोनल सचिव बबरूभान के नेतृत्व में गुरुवार को हुए प्रदर्शन के बाद यूनियन नेताओं ने कहा कि सरकार को चेताने के लिए यूएफबीयू के बैनर तले सरकार को चेताने के लिए देशभर में विरोध प्रदर्शन किया गया है। यदि सरकार ने इसे वापस नहीं लिया तो हड़ताल की जाएगी। उन्होंने कहा कि बैंक पेंशनरों की समस्याओं का समाधान भी नहीं हो पाया है, जिसके चलते सरकार के खिलाफ रोष बढ़ता जा रहा है।

मांगे नहीं मानी गई तो शहर के साथ बावल व धारूहेड़ा में बिगड़ सकती है सफाई व्यवस्था

गुरुवार को नगर परिषद रेवाड़ी के गेट पर बैठक कर्मचारियों ने इकाई प्रधान महेंद्र चावरिया की अध्यक्षता में भूख हड़ताल शुरू की। इसी के साथ धारूहेड़ा व बावल नपा कर्मियों ने भी 72 घंटे की भूख हड़ताल शुरू कर दी है। महेंद्र चावरिया ने कहा कि 72 घंटे के अंदर यदि सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी तो हड़ताल अनिश्चित काल में बदल जाएगी। उन्होंने कहा कि 400 से अधिक सफाई कर्मियों में से एक भी कर्मी झाडू नहीं उठाएगा। उन्होंने कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था का इंतजाम करना प्रशासन का जिम्मा है। कर्मचारियों ने मजबूरी में हड़ताल शुरू की है। ऐसे में सरकार को तुरंत मांगे मानकर कर्मचारी व आम जनता हितैशी होने का प्रमाण देना चाहिए। इस अवसर पर बिजली निगम यूनियन के किरोड़ीलाल एवं पीडब्ल्यूडी यूनियन के राजेंद्र सिंह ने भी धरना स्थल पहुंचकर भूख हड़ताल पर बैठे कर्मियों को अपना समर्थन दिया।

रेवाड़ी. हड़ताल के दौरान नगर परिषद के बाहर धरना प्रदर्शन करते नगर पालिका कर्मचारी संघ के सदस्य।

रेवाड़ी. हड़ताल के दौरान नगर परिषद के बाहर धरना प्रदर्शन करते नगर पालिका कर्मचारी संघ के सदस्य।

X
झाड़ू छोड़ नप सफाईकर्मी बैठे 3 दिन की भूख हड़ताल पर, मांगें नहीं मानने पर बेमियादी धरने की चेतावनी दी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..