Hindi News »Haryana »Bawal» फर्जी बीपीएल कार्ड होंगे रद्द, कार्रवाई के साथ रिकवरी पात्रों को लाभ मिले,10 साल बाद जुलाई से सर्वे की तैयारी

फर्जी बीपीएल कार्ड होंगे रद्द, कार्रवाई के साथ रिकवरी पात्रों को लाभ मिले,10 साल बाद जुलाई से सर्वे की तैयारी

5 साल चले सर्वे के बाद जिला में 2007 में 46 हजार से अधिक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले(बीपीएल) राशन कार्ड बनाए गए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 23, 2018, 03:10 AM IST

फर्जी बीपीएल कार्ड होंगे रद्द, कार्रवाई के साथ रिकवरी पात्रों को लाभ मिले,10 साल बाद जुलाई से सर्वे की तैयारी
5 साल चले सर्वे के बाद जिला में 2007 में 46 हजार से अधिक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले(बीपीएल) राशन कार्ड बनाए गए थे। इसके बाद ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में फर्जी राशन कार्ड बनने की शिकायतें भी विभागों के पास पहुंची, बावल में ही आरटीआई की जानकारी मिलने पर अपात्रों द्वारा इस श्रेणी का लाभ लेने का मामला सामने आया था। बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। 10 साल बाद अब सरकार ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में बीपीएल परिवारों का सर्वे करने की तैयारी कर रही है।

सर्वे में फर्जी बीपीएल कार्ड रद्द तो किए ही जाएंगे, इसके अलावा ऐसे लोगों से रिकवरी करने के साथ कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि हर माह करीब 150 से अधिक ग्रामीण क्षेत्र के लोग नाम जुड़वाने के लिए जिला सचिवालय स्थित डीआरडीए दफ्तर पहुंचते हैं। अब सर्वे से पहले विभाग 300 परिवारों की एक लिस्ट को शामिल करने की तैयारी कर रहा है। इन परिवारों का सर्वेक्षण किया जा चुका है।

सख्ती

प्रत्येक माह 150 से अधिक लोग बीपीएल लिस्ट में नाम जुड़वाने पहुंचते हैं सचिवालय

10 अंक प्राप्त करने वाले परिवार होंगे बीपीएल

बीपीएल श्रेणी से जोड़ने के लिए विभाग की ओर से भूमि, मकान, घरेलू उपकरण, शिक्षा व आजीविका के साधन 5 मापदंडों पर मापा जाते हैं। इसमें 10 अंक तक प्राप्त करने वाले गरीबी रेखा से नीचे व इसे उपर अंक लेने को एपीएल माना जाता है। प्रशासन की ओर से 5 अधिकारियों की कमेटी द्वारा नए नाम काटने व जोड़ने का प्रावधान है। इसमें एसडीएम, डीडीपीओ, डीएफएससी, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी व डीडब्लयूओ शामिल होते हैं। इन अधिकारियों की जांच के बाद डीसी की स्वीकृति से लाभ दिया जाता है। जिला खाद्य आपूर्ति एवं नियंत्रक अधिकारी अशोक रावत हाल में ही 300 लोगों को बीपीएल लिस्ट को हरी झंडी दी गई है। उम्मीद है कि जुलाई में सर्वे शुरू हो सकता है। अपात्र लोगों द्वारा लाभ लेने पर कार्ड रद्द करने के साथ रिकवरी करने के साथ कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bawal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×