Hindi News »Haryana »Bawal» प्राइमरी स्कूलों में हेड टीचर के लिए लगाई 150 बच्चों की शर्त जेबीटी शिक्षक बोले- मिडिल और हाईस्कूल में कोई शर्त नहीं

प्राइमरी स्कूलों में हेड टीचर के लिए लगाई 150 बच्चों की शर्त जेबीटी शिक्षक बोले- मिडिल और हाईस्कूल में कोई शर्त नहीं

राजकीय प्राइमरी स्कूलों में मुख्य अध्यापक के लिए लगाई गई 150 बच्चों की शर्त को लेकर जेबीटी शिक्षकों में खासा रोष है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 27, 2018, 03:10 AM IST

प्राइमरी स्कूलों में हेड टीचर के लिए लगाई 150 बच्चों की शर्त जेबीटी शिक्षक बोले- मिडिल और हाईस्कूल में कोई शर्त नहीं
राजकीय प्राइमरी स्कूलों में मुख्य अध्यापक के लिए लगाई गई 150 बच्चों की शर्त को लेकर जेबीटी शिक्षकों में खासा रोष है। इसे लेकर शिक्षक धीरे-धीरे लामबद्ध भी होने लगे हैं। राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से इस शर्त को हटवाने व अन्य मांगों को लेकर डीईईओ सुरेश गौरेया को ज्ञापन भी सौंपा गया।

जरूरी… मिड-डे मील से लेकर एसएमसी के होते हैं सचिव

राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के राज्य सचिव एवं पूर्व जिला प्रधान चंद्रहास का कहना है कि हेड टीचर स्कूल में इसलिए जरूरी होता है कि वह मिड-डे मील से लेकर विभिन्न तरह के फंड जारी करने और एसएमसी के संचालन में भी अहम भूमिका निभात े हैं। मुख्य अध्यापक एसएमसी के सचिव भी है। सदस्यों का कहना है कि इस शर्त को जिला में 412 स्कूलों में से 28 स्कूल ही पूरा कर रहे हैं। इन स्कूलों में ही मुख्य अध्यापक हैं, बाकियों में कोई हेड टीचर नहीं हैं।

यह भी मांगे रखीं : संघ की ओर से जवाहरलाल नेहरू पार्क में बैठक रखी गई। इसके बाद डीईईओ को सौंपे ज्ञापन में कहा कि सरकार ने 1 जनवरी 2006 के बाद नियुक्त होने वाले कर्मचारियों की पेंशन बंद कर दी है। जो कि सरासर अन्याय है। इसलिए नई पेंशन नीति को बंद कर पुरानी पेंशन नीति बहाल करने, प्राथमिक स्कूलों में आकस्मिकता राशि जल्द जारी हो, बिजली बिलों की राशि देने, गांवों में प्ले स्कूल नाम से विभिन्न संस्थाएं चल रही हैं, इन पर कार्रवाई हो, प्राथमिक विद्यालयों में मुख्य अध्यापक के पद स्वीकृत करने सहित अन्य मांगे शामिल हैं। इस मौके पर जिला प्रधान संदीप संदीप यादव, जिला महासचिव कृष्ण शर्मा, रेवाड़ी ब्लॉक प्रधान बबरूभान यादव, खोल ब्लॉक प्रधान अशोक यादव, बावल ब्लॉक प्रधान राजेंद्र रावत, पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह, उमेश, मनोज, प्रमोद, प्रदीप, सुदेश, सतीश, रवि, घनश्याम, नितिन, दयानंद, मुकेश, तेजपाल, बिरेंद्र, संजीव, राजबीर, सुनील, धर्मेंद्र व अमित सहित अन्य मौजूद रहे।

रेवाड़ी. अपनी मांगों को लेकर डीईईओ को ज्ञापन देते राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के सदस्य।

शिक्षकों का तर्क …

मिडिल व हाईस्कूल में बन रहे 20 बच्चों पर भी हेड टीचर

संघ के सदस्यों ने कहा कि प्राथमिक स्कूलों पर बच्चों की शर्त थोपी जा रही है, जबकि मिडिल या हाईस्कूल में 20 बच्चों पर ही मुख्य अध्यापक बन रहे हैं। ज्यादातर कार्य भी प्राथमिक स्कूल से ही शुरू हा़े जाते हैं। इसलिए प्राइमरी स्कूलों से भी बच्चों की संख्या को लेकर शर्त हटाई जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bawal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×