Hindi News »Haryana »Bawal» 150 सेकेंडरी व सीनियर सेकेंडरी में से केवल चार स्कूलों का रिजल्ट शत-प्रतिशत, शिक्षा विभाग ने जारी की लिस्ट

150 सेकेंडरी व सीनियर सेकेंडरी में से केवल चार स्कूलों का रिजल्ट शत-प्रतिशत, शिक्षा विभाग ने जारी की लिस्ट

जिला के 10 वीं में हम प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहे और 12वीं के परीक्षा परिणाम में लगातार दूसरे साल प्रथम स्थान पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 02, 2018, 03:10 AM IST

जिला के 10 वीं में हम प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहे और 12वीं के परीक्षा परिणाम में लगातार दूसरे साल प्रथम स्थान पर रहने के बाद भी 150 सेकेंडरी व सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में से केवल 4 का ही परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा है। जिला शिक्षा विभाग की ओर से जारी की गई टॉप थ्री स्कूलों की सूची में यह खुलासा हुआ है। 50 फीसदी से कम रिजल्ट वाले स्कूलों की लिस्ट भी तैयार की जा रही है। उसके बाद उन स्कूलों के संबंधित विषयों के शिक्षक व मुखियाओं से जवाब-तलब किया जाएगा। यानि उनको खराब परिणाम का स्पष्टीकरण देना होगा। जबकि बेस्ट रिजल्ट वाले स्कूल के बच्चे व शिक्षकों को विभाग सम्मानित करेगा।

सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट वाले स्कूलों के विद्यार्थी और शिक्षक होंगे सम्मानित

इन स्कूलों का रिजल्ट रहा 100%

सेकेंडरी बोर्ड के परिणाम में जाटूसाना ब्लॉक ऐसा रहा है, जिनके 10वीं व 12वीं दोनों में ही एक-एक स्कूल का शत-प्रतिशत रिजल्ट रहा है। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रोहड़ाई में 15 बच्चों ने 12वीं की परीक्षा दी थी। जिनमें सभी बच्चे अच्छे नंबरों से उत्तीर्ण हुए हैं। इसके अलावा 10वीं के बोर्ड परिणाम में एसआरएस जीएसएसएस मस्तापुर में 23 बच्चों ने परीक्षा दी थी, जिनमें सभी बच्चे पास हुए हैं। इसके अतिरिक्त नाहड़ खंड में जीएचएस सुरहेली स्कूल का दसवीं का परीक्षा परिणाम 100 फीसदी रहा है। इस स्कूल में 13 बच्चों ने परीक्षा दी थी, जिनमें सभी पास हुए हैं। ब्लॉक में भी स्कूल ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। बावल ब्लॉक में भी बालावास जाट स्कूल का रिजल्ट उत्कृष्ट रहा है।

50% से कम परिणाम वाले स्कूलों से मांगा जाएगा जवाब

जिला शिक्षा विभाग ने अगले शैक्षणिक सत्र में स्कूलों के बेहतर रिजल्ट को लेकर प्लानिंग भी तैयार की है। जिसके तहत ऐसे स्कूलों की लिस्ट तैयार की जा रही है, जिनका परिणाम 50 प्रतिशत से कम रहा है। उन स्कूलों के मुखियाओं से जवाब-तलब भी करने की तैयारी है। ऐसा इसलिए कि अगला परिणाम और बेहतर रहे।

20 स्कूलों का रहा 90 फीसदी रिजल्ट

जिला के सेकेंडरी व सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में 20 से ज्यादा स्कूलों का रिजल्ट 90 फीसदी रहा है। इनमें रेवाड़ी ब्लॉक में 10वीं कक्षा के रिजल्ट में कोई भी स्कूल 90 फीसदी अंक प्राप्त नहीं कर पाए। 12वीं के रिजल्ट में गोकलगढ़ व सहारनवास शामिल रहें। जाटूसाना खंड में 12वीं में कन्होरी, आशियाकी गोरावास तथा 10वीं में कंवाली स्कूल का रिजल्ट 90 फीसदी रहा। इसके अतिरिक्त नाहड़ खंड में 10वीं में कोहारड़ व लीलोढ़ और 12वीं में गुगोढ़ व झाड़ौदा शामिल हैं। इसी तरह खोल में 10वीं में मंदौला व मूंदी तथा 12वीं में सीहा, पाली व मायन स्कूल शामिल हैं। इसके अलावा बावल ब्लॉक में कुछ स्कूलों के 90 फीसदी नंबर रहे हैं।

स्कूलों के परिणाम में आए सुधार, यही प्रयास

जिला को शिक्षा में बेस्ट बनाने के लिए स्कूलों का परिणाम सुधारने की पहल की जा रही है। इसके लिए ही खराब रिजल्ट वालों से जवाब मांगने के साथ ही अच्छे रिजल्ट वाले स्कूलों के बच्चों व शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा। दोनों की ही लिस्ट तैयार हो रही है। -सुरेश गौरया, कार्यकारी डीईओ, रेवाड़ी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bawal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×