• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • 12वीं बोर्ड के रिजल्ट में जिला राज्य में टॉपर, मगर शत-प्रतिशत परिणाम रहा केवल एक स्कूल का
--Advertisement--

12वीं बोर्ड के रिजल्ट में जिला राज्य में टॉपर, मगर शत-प्रतिशत परिणाम रहा केवल एक स्कूल का

हरियाणा बोर्ड की 12वीं कक्षा के रिजल्ट में प्रदेश में भले ही जिला लगातार दूसरी बार टॉप पर रहा हो, लेकिन शत-प्रतिशत...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 03:10 AM IST
हरियाणा बोर्ड की 12वीं कक्षा के रिजल्ट में प्रदेश में भले ही जिला लगातार दूसरी बार टॉप पर रहा हो, लेकिन शत-प्रतिशत परिणाम केवल एक स्कूल ने ही दिया है। जबकि 3 स्कूल ऐसे भी रहे, जिनका परिणाम 43 फीसदी से कम रहा है। दूसरे अगर मेरिट के मामले में बात करें तो रेवाड़ी खंड के विद्यार्थी 110 मेरिट के साथ जिलाभर में अव्वल रहे हैं। नाहड़ खंड 52 मेरिट के साथ जिला में सबसे निचले पायदान पर है। जिला में कुल 358 विद्यार्थियों ने 80 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए हैं।

इनका रहा 45 फीसदी से कम रिजल्ट

शिक्षा विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार नाहड़ खंड के जीएसएसएस बव्वा में 20 बच्चों ने परीक्षा दी थी, जिनमें से 9 बच्चे पास हुए। इसके अलावा जीएसएसएस आकेड़ा में 7 बच्चों में से 3, जीएसएसएस बावल में 163 बच्चों में से 55 और जीएसएसएस प्राणपुरा में 18 बच्चों में से 6 बच्चे उत्तीर्ण हुए हैं।

रोहड़ाई स्कूल :: आठ पीरियड तक पढ़ाते हैं बच्चों को : स्कूल के प्राचार्य युद्धवीर सिंह बताते हैं कि स्कूल में प्रत्येक कक्षाओं की रेगुलर मॉनीटरिंग होती है। बच्चों को 8वें पीरियड तक रोका जाता है और अगर किसी विषय में बच्चे कमजोर लग रहे हैं तो उनकी अतिरिक्त कक्षाएं भी लगाई जाती हैं। स्कूल में ऐसा पीरियड कोई भी नहीं जाता है जब किसी समय कक्षा में कोई शिक्षक नहीं होता है।

यह जानिए… किस तरह अव्वल रहे स्कूल

इन का रिजल्ट रहा 95% से ज्यादा

शिक्षा विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार नाहड़ खंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रोहड़ाई का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहा है। स्कूल में 12वीं कक्षा में 15 बच्चे थे, जिनमें सभी ने अच्छे नंबर प्राप्त किए हैं। इनमें एक विद्यार्थी ने 437 अंकों के साथ स्कूल में टॉप किया है। इसके अलावा जीएसएसएस माजरा मुस्तिल भालखी में 48 बच्चों में से 44 पास हुए और 4 को कंपार्टमेंट मिला हैं। 8 विद्यार्थियों ने मेरिट में स्थान बनाया है। इससे स्कूल का रिजल्ट भी लगभग 99 फीसदी रहा है। जीएसएसएस काकोड़िया का रिजल्ट 97.87 और जीएसएसएस गोकलगढ़ का परिणाम 97.44 प्रतिशत रहा है।

माजरा मुस्तिल भालखी : फिजिक्स का टीचर नहीं, फिर भी रिजल्ट श्रेष्ठ

प्राचार्य पृथ्वीसिंह ने बताया कि स्कूल में नॉन मेडिकल, कॉमर्स और आर्ट संकाय हैं। स्कूल में आधा घंटे पहले सभी शिक्षक अतिरिक्त कक्षाएं शुरू कर देते हैं। इसके अलावा रेगुलर मॉनीटरिंग भी की जा रही है। मंथली टेस्ट करवाएं जाते हैं, उनमें अगर कोई विषय में सवाल गलत रहा है तो उसे उसी समय ठीक कराया जाता है। स्कूल में फिजिक्स का शिक्षक भी नहीं है। खुद प्राचार्य पृथ्वीसिंह ने भौतिक विज्ञान को पढ़ाया है और रिजल्ट भी श्रेष्ठ रहा है।

विद्यार्थी होंगे सम्मानित : कार्यकारी डीईओ


खंड वाइज मेरिट परिणाम ये रहा