• Hindi News
  • Haryana
  • Bawal
  • सीवरेज के पाइप में फंसा मिला ट्रांसपोर्टर का शव, नाले में सीधी खड़ी थी उसकी बाइक, सूचना के 15 घंटे बाद जेसीबी से निकाला
--Advertisement--

सीवरेज के पाइप में फंसा मिला ट्रांसपोर्टर का शव, नाले में सीधी खड़ी थी उसकी बाइक, सूचना के 15 घंटे बाद जेसीबी से निकाला

कंपनी के एक ट्रांसपोर्टर का शव बुधवार को एनएच-8 के पास असाई पुल के नीचे स्थित सीवरेज लाइन में फंसा मिला तो सनसनी फैल...

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2018, 03:10 AM IST
सीवरेज के पाइप में फंसा मिला ट्रांसपोर्टर का शव, नाले में सीधी खड़ी थी उसकी बाइक, सूचना के 15 घंटे बाद जेसीबी से निकाला
कंपनी के एक ट्रांसपोर्टर का शव बुधवार को एनएच-8 के पास असाई पुल के नीचे स्थित सीवरेज लाइन में फंसा मिला तो सनसनी फैल गई। पुलिस ने जेसीबी से लाइन को खोदकर शव को बाहर निकाला। ट्रांसपोर्टर की मौत से नाराज परिजनों ने बावल रोड पर कुछ देर के लिए जाम लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। सूचना के बाद खुद एसपी राजेश दुग्गल भी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने परिजनों के बयान के आधार पर प्राणपुरा निवासी एक अन्य ट्रांसपोर्टर जसवंत व उसके ड्राइवर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

बाइक और जूते पड़े थे नाले में परिजनों ने आकर निकाले

सुठानी निवासी प्रवीण कुमार का बावल क्षेत्र की एक कंपनी में ट्रांसपोर्ट का काम था। मंगलवार देरशाम को प्रवीण बाइक पर अपने घर जा रहा था, लेकिन वह घर नहीं पहुंचा। रात करीब सवा 9 बजे परिजनों को सूचना मिली कि प्रवीण सीवर लाइन में गिर गया है। सूचना के बाद प्रवीण के चाचा नरेश व अन्य ग्रामीण मौके पर पहुंचे। वहां सीवरेज के खुले हिस्से (नाले) के अंदर प्रवीण की बाइक थी, जो कि सीधी खड़ी हुई थी। पास में ही प्रवीण के जूते भी नाले में ही पड़े थे। ग्रामीणों ने बाइक को बाहर निकाला तथा प्रवीण की तलाश की। जब नहीं पता लग पाया तो कसौला थाना पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर प्रवीण की तलाश शुरू की। नाले में पानी को कम करने के बावजूद कामयाबी नहीं मिल पाई।

नाराज परिजनों ने बावल रोड पर कुछ देर के लिए जाम लगाते हुए कार्रवाई की मांग की

प्रवीणकुमार का फाइल फोटो।

रेवाड़ी. एन एच आठ के पास सीवरेज का पानी खाली करने के बाद मिले युवक के शव को निकालते कर्मचारी।

15 फीट खोदने पर मिला शव

बुधवार को सुबह पुलिस ने फिर से सर्च ऑपरेशन शुरू कराया। एसपी राजेश दुग्गल, डीएसपी सतपाल और डीएसपी सुरेश हुड्डा पुलिस बल सहित मौके पर पहुंचे। पहले पाइप के माध्यम से सीवर लाइन के पानी को कम किया गया। इसके बाद जेसीबी से खुदाई की गई। करीब 15 फीट आगे प्रवीण का शव नाले में फंसा हुआ मिला। पुलिस ने शव को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल पहुंचाया।

प्रवीण के पिता बोले- डॉक्टर पर दबाव बनाने का संदेह : मृतक प्रवीण के पिता सूबे सिंह भरे गले से बेटे की माैत पर न्याय मांगते हुए कहते हैं कि उसकी हत्या की गई है। उन्होंने संदेह जताया कि मामले में डॉक्टर तक पर दबाव बनाया जा रहा है, क्योंकि उनसे डीएसपी की बात हुई थी कि डॉक्टर को गुरुवार को मौका दिखाया जाएगा। इसके बावजूद उन्हें पता लगा है कि उनकी जानकारी के बगैर डॉक्टर को मौका दिखा दिया है। ऐसे में उन्हें शक है कि आरोपियों को बचाने के लिए कहीं साजिश तो नहीं की जा रही है। सूबे सिंह ने मांग कि उनके बेटे के हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। बता दें कि 34 वर्षीय प्रवीण के 8 व 10 साल के दो बेटे हैं।

इसलिए हत्या की आशंका...

बाइक एकदम सीधी कैसे खड़ी : परिजनों ने मुख्य रूप से तीन कारण गिनाते हुए हत्या की आशंका जताई है। पहला ये कि सीवर के खुले हिस्से में बाइक सीधी खड़ी हुई थी। 3 फीट के इस नाले में यदि बाइक गिरती तो प्रवीण अंदर बहकर कैसे चला गया।

सिर में मिले चोट के निशान : मृतक के चाचा नरेश कुमार के अनुसार प्रवीण के सिर पर गहरी चोट के निशान हैं। उन्हें संदेह है कि सिर में चोट मारी गई है। इसके बाद सीवरेज में फेंककर उसकी हत्या कर दी गई। हो सकता है कि हत्या के बाद फेंका गया हो।

आरोपी से पहले भी हुई कहासुनी : पुलिस को दी शिकायत में परिजनों ने बताया कि मृतक प्रवीण और आरोपी जसवंत के बीच किसी बात को लेकर पहले भी कहासुनी हो चुकी थी। इसलिए उन्हें संदेह है कि रंजिश के चलते आरोपियों ने अपने मंसूबों को अंजाम दिया।

ग्रामीणों ने जाम लगाकर मांगा न्याय

सीवर में तलाशने के बाद भी जब प्रवीण का कहीं सुराग नहीं लगा तो ग्रामीणों को गुस्सा फूट पड़ा। गुस्साए ग्रामीणों ने बुधवार सुबह रेवाड़ी-बावल रोड पर अवरोधक डालकर जाम लगा दिया। जाम के चलते वाहनों की लंबी कतारें लग गई। इसके बाद सीवरेज खोदने पर शव मिल गया। इसके बाद परिजनों ने केस दर्ज कराने की मांग की। परिजनों ने कहा कि रात को गांव प्राणपुरा निवासी जसवंत ने प्रवीण के सीवर लाइन में गिरने की सूचना फोन करके दी थी। जब वे मौके पर पहुंचे तो जसवंत व उसका ड्राइवर प्रेम वहीं मौजूद थे। पुलिस ने दोनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। वहीं बोर्ड से पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

रेवाड़ी. एन एच-8 के पास सीवरेज में गिरे युवक के नहीं मिलने पर एसपी से बात करते सुठानी के ग्रामीण।

एनएचएआई की लापरवाही...

इस नाले में पहले कई बार पशु भी गिरे

असाई पुल के नीचे खुला पड़ा सीवरेज का यह नाला काफी समय से इसी हालत में है। ग्रामीणों का आरोप है कि इस नाले में पहले भी कई बार पशु गिर चुके हैं। स्थानीय लोगों द्वारा पशुओं को बाहर निकाला गया। एनएचएआई की लापरवाही के चलते आज तक इस नाले को ढका नहीं जा सका है।



X
सीवरेज के पाइप में फंसा मिला ट्रांसपोर्टर का शव, नाले में सीधी खड़ी थी उसकी बाइक, सूचना के 15 घंटे बाद जेसीबी से निकाला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..