बावल

  • Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • खोल, बावल, रेवाड़ी और नाहड़ ब्लॉक को शैक्षणिक स्तर पर बनाएंगे सक्षम, अधिकारी लगाएंगे स्कूलों में क्लास
--Advertisement--

खोल, बावल, रेवाड़ी और नाहड़ ब्लॉक को शैक्षणिक स्तर पर बनाएंगे सक्षम, अधिकारी लगाएंगे स्कूलों में क्लास

बच्चों के शैक्षणिक स्तर को बढ़ाने के लिए जुलाई में स्कूल खुलते ही आईएएस और एचएएस स्तर के अधिकारी भी स्कूलों में...

Danik Bhaskar

Jul 02, 2018, 03:10 AM IST
बच्चों के शैक्षणिक स्तर को बढ़ाने के लिए जुलाई में स्कूल खुलते ही आईएएस और एचएएस स्तर के अधिकारी भी स्कूलों में जाकर क्लास लगाएंगे। इन अधिकारियों द्वारा जिला के जाटूसाना ब्लॉक को छोड़कर बाकी में 4-4 स्कूलों में जाकर वहां बच्चों के अलावा शिक्षकों को भी मोटीवेट किया जाएगा। ये अधिकारी स्कूलों का निरीक्षण भी करेंगे। साथ ही जांचा जाएगा कि बच्चे किस विषय में कमजोर चल रहे हैं। उसके बाद उन विषयों के बारे में स्कूल हैड व शिक्षकों को दिशा-निर्देश भी दिया जाएगा।

ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि इन खंडों का आगामी 2 अगस्त को लर्निंग लेवल एसेस्मेंट टेस्ट होना है। अभी पिछले दिनों आए रिजल्ट में जिला के रेवाड़ी व खोल खंड के बच्चों ने टेस्ट दिया था, जिनमें बच्चे पूरी तरह विफल रहे थे। अब प्रशासन ने इसे गंभीरता से लिया है। इतना ही नहीं डीईओ, डाइट प्रिंसिपल और डिप्टी डीईओ रैंक के अधिकारी भी स्कूलों में निरीक्षण करेंगे।

बीईओ व बीईईओ को जांचना होगा हर दिन एक स्कूल : शिक्षा विभाग अधिकारी बताते हैं कि बीईओ व बीईईओ को हर दिन एक स्कूल की जांच करनी होगी। साथ ही इस बारे में रिपोर्ट भी तैयार करेंगे। इस दौरान स्कूल मुखिया व शिक्षकों के साथ मीटिंग भी की जाएगी। यह जांच कार्य 2 जुलाई से शुरू हो जाएगा, क्योंकि 2 अगस्त को लर्निंग लेवल एसेस्मेंट टेस्ट होना है। इसको लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है।

पिछले टेस्ट में गणित और हिंदी दोनों में रह गए थे बच्चे

पिछले दिनों रेवाड़ी व खोल खंड के स्कूलों से 1500-1500 बच्चे इस टेस्ट के लिए चुने गए थे। अब आए टेस्ट के रिजल्ट में दोनों खंडों में बच्चे गणित व हिंदी दोनों में ही कमजोर रहे हैं। इनमें कक्षा 3, 5 और 8 के बच्चों में गणित व हिंदी दोनों में ही बौद्धिक स्तर कमजोर रहा है। हिंदी में रेवाड़ी ब्लॉक में तो किसी भी कक्षा में 80 फीसदी से ज्यादा बच्चे उत्तीर्ण नहीं हो पाए। गणित में भी कुछ ऐसा ही हाल रहा है।

कक्षा 3, 5 व 8 में बच्चे किस विषय में कमजोर लगेंगी अतिरिक्त कक्षाएं

खोल खंड के बीईओ डॉ. खुशीराम ने बताया कि कक्षा तीन, पांच और आठ में बच्चे किस विषय में कमजोर चल रहे हैं। उस विषय की अतिरिक्त कक्षाओं के माध्यम से तैयारी कराई जाएगी। ताकि उन विषयों में कमजोरी को दूर किया जा सके। इस बार 4 ब्लॉक को सक्षम बनाने की तैयारी हैं, जिनमें रेवाड़ी, बावल, खोल व नाहड़ खंड शामिल हैं। उन्होंने बताया कि लर्निंग लेवल टेस्ट में गणित व हिंदी के वस्तुनिष्ठ सवाल पूछे जाएंगे।

एडीसी-एसडीएम 4-4 स्कूल और डीईओ रैंक के अधिकारी 8-8 स्कूल जांचेंगे

इन खंडों को शैक्षणिक रूप से सक्षम बनाने के लिए एडीसी और एसडीएम जहां 4-4 स्कूलों का निरीक्षण करेंगे और वहां बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए मोटीवेट किया जाएगा। इसके अलावा डीईओ, डाइट प्रिंसिपल और डिप्टी डीईओ रैंक के अधिकारी 8-8 स्कूलों का निरीक्षण करेंगे। ये अधिकारी स्कूलों में जाकर बच्चों के शैक्षणिक स्तर को जांचेंगे। साथ ही उनको पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित भी करेंगे।

Click to listen..