• Home
  • Haryana News
  • Bawal
  • आउटसोर्सिंग और ठेका प्रथा पर रोक को लेकर हजरस का तहसीलदार को सीएम के नाम मांगपत्र
--Advertisement--

आउटसोर्सिंग और ठेका प्रथा पर रोक को लेकर हजरस का तहसीलदार को सीएम के नाम मांगपत्र

रेवाड़ी| हजरस की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम बावल तहसीलदार मनीष यादव को ज्ञापन सौंपा गया। इस...

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 03:10 AM IST
रेवाड़ी| हजरस की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम बावल तहसीलदार मनीष यादव को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान सदस्यों ने मांगों के लिए प्रदर्शन भी किया।

संगठन के सदस्यों ने ज्ञापन में कहा कि सभी पदों पर एससी वर्ग का 20 % प्रतिनिधित्व को सुनिश्चित करने के लिए पी राघवेंद्र राव और अनिल कुमार आईएएस की रिपोर्ट के आधार पर सभी पदों पर पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था परिणामी वरिष्ठता के लाभ के साथ 17 जून 1995 से प्रभावी करते हुए पदोन्नति में आरक्षण की अधिसूचना तुरंत जारी करने, जब तक अधिसूचना जारी नहीं होती तब तक सभी विभागों में पदोन्नति पर रोक लगाई जाए, आउटसोर्सिंग, ठेका प्रथा, मल्टीपर्पज वर्कर व अन्य सभी प्रकार की बैकडोर से होने वाली भर्तियों पर रोक लगाई जाए। इसके अलावा सभी विभागों में रोस्टर ऑनलाइन करने और सभी प्रकार की भर्ती के समय नियुक्ति सूचियां पूर्ण रूप से आरक्षण नीति को लागू करते हुए रोस्टर के अनुसार जारी करने सहित अन्य शामिल हैं। ज्ञापन जिला प्रधान राजपाल दहिया के नेतृत्व में सौंपा गया। होशियार सिंह बिहागरा, भूप सिंह भारती, भगत सिंह सांभरिया, रामनिवास खटावली, नरेंद्र मेहरा, रणबीर सिंह, अशोक मेघवाल, राजकुमार माजरा, बिरेन्द्र सिंह डहीनवाल, रविन्द्र कुमार, बिजेंद्र सिंह, नरेंद्र सिंह, किशोरीलाल, राजेश सुलखा, मान सिंह, विनय डहीनवाल, नवीन कुमार, बाबू प्रताप सिंह व दौलतराम संगवाड़ी आदि थे।

रेवाड़ी. मांगों को लेकर सचिवालय में तहसीलदार मनीष यादव को ज्ञापन देते हजरस के सदस्य।