• Hindi News
  • Haryana
  • Beri
  • 134ए का रिजल्ट देखने जा रही बच्ची को डंपर ने कुचला, 91% अंक आए थे, बनना था डॉक्टर
--Advertisement--

134ए का रिजल्ट देखने जा रही बच्ची को डंपर ने कुचला, 91% अंक आए थे, बनना था डॉक्टर

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2018, 02:05 AM IST

Beri News - आर्थिक रूप से कमजोर परिवार में जन्म लेने के बावजूद बेरी की एक बेटी का डाॅक्टर बनने का सपना था। वह नियम 134-ए के तहत...

134ए का रिजल्ट देखने जा रही बच्ची को डंपर ने कुचला, 91% अंक आए थे, बनना था डॉक्टर
आर्थिक रूप से कमजोर परिवार में जन्म लेने के बावजूद बेरी की एक बेटी का डाॅक्टर बनने का सपना था। वह नियम 134-ए के तहत प्राइवेट स्कूल में फ्री दाखिला लेकर पढ़ना चाहती थी। उसने 15 अप्रैल को 134 ए की परीक्षा भी दी, लेकिन रिजल्ट सुनने से पहले ही गुरुवार को सड़क हादसे में उसकी मौत हो गई। चिमनी का रहने वाला विजय 7 वर्षीय बेटी अंजलि के साथ बेरी के लघुसचिवालय में 134ए का रिजल्ट देखने जा रहा था। जब वह बेरी के सरकारी स्कूल के पास पहुंचा, तब एक डंपर चालक ने विजय की बाइक में पीछे से टक्कर मार दी। विजय साइड में कच्चे रोड पर गिर गया और अंजलि को सड़क पर ही डंपर ने बुरी तरह से कुचल दिया। अंजलि ने मौके पर दम तोड़ दिया और पिता विजय के पैरों में फ्रैक्चर के साथ गंभीर चोटें आई हैं। उसका पीजीआई में इलाज चल रहा है।

बाद में डंपर चालक मौके पर डंपर को छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने डंपर को अपने कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। सूचना पाकर थाना प्रभारी तेलूराम व बेरी चौकी इंचार्ज मुकेश कुमार मौके पर पहुंचे। अंजलि की मौत के साथ ही उसका डॉक्टर बनने का सपना भी साथ ही चला गया। अंजलि 134ए के टेस्ट का अपना रिजल्ट भी नहीं देख सकी। उसके दूसरी कक्षा के टेस्ट में 91 प्रतिशत अंक आए हैं। बेरी ब्लॉक में वह चौथे स्थान पर रही। एक लापरवाह चालक ने होनहार बेटी की जान ले ली।

मजदूरी कर चला रहा है परिवार : विजय मजदूरी करके अपने परिवार को चला रहा है। उसके तीन बच्चे थे, जिसमें अंजलि सबसे बड़ी थी। वह पढ़ाई में बहुत होशियार थी। उसकी एक छोटी बहन और एक भाई और है।

झज्जर . झज्जर-कलानौर रोड पर डंपर और बाइक की टक्कर में बच्ची का घायल पिता विजय नागरिक अस्पताल में इलाज के दौरान।

बेरी में बाईपास नहीं, दौड़ते हैं ओवरलोड वाहन

दादरी से सोनीपत, बहादुरगढ़ तक जाने वाले वाहन शार्टकट के चक्कर में वाया बेरी होकर निकलते हैं, जबकि बेरी में बाईपास की सुविधा नहीं है। बेरी की सड़कों पर ओवरलोड वाहन आमतौर पर दौड़ते हुए देखे जा सकते है, लेकिन इन पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन द्वारा ठोस कदम नहीं उठाए गए। ग्रामीण कई बार स्पड ब्रेकर की भी मांग कर चुके हैं।

निजी बस ने युवक को कुचला, 50 मीटर तक घसीटा, पीछा करने पर दी धमकी

बहादुरगढ़ | शहर में निजी बस ऑपरेटर खुलेआम नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। गुरुवार को झज्जर रोड पर तेज रफ्तार प्राइवेट बस ने बाइक सवार अपने घर के इकलौते युवक को कुचल दिया। घायल की सहायता करने की बजाय चालक ने बस की रफ्तार और तेज कर दी, जिससे वह 50 मीटर तक घसीटता चला गया। मौके पर मौजूद कुछ युवकों ने बस का पीछा करके रुकवाने का प्रयास भी किया, लेकिन चालक ने उन पर बस चढ़ाने की धमकी देकर उसे और तेज कर दिया। घटना से गुस्साए आसपास के लोगों ने मौके पर हंगामा भी किया। सूचना मिलने पर सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को समझा-बुझाकर शांत करवाया।

पेड़ से टकराई बाइक, युवक की मौत

बहादुरगढ़ | पश्चिम बंगाल के 25 वर्षीय गोगी की सड़क हादसे में मौत हो गई। उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में रखवा दिया गया है। परिजनों के आने के बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल का 25 वर्षीय गोगी जसोरखेड़ी गांव में एक ईंट भट्ठे पर काम करता था। वह बुधवार को किसी कार्य के लिए जसोरखेड़ी से हसनगढ़ की ओर जा रहा था। जसोरखेड़ी से कुछ ही दूरी पर पहुंचा तो अचानक उसकी बाइक का संतुलन बिगड़ गया और उसकी बाइक पेड़ से जा टकराई। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मृतक के साथियों के आधार पर पुलिस ने उसकी शिनाख्त हुई। उसके परिजनों को इस संबंध में सूचना दी गई है। फिलहाल शव को नागरिक अस्पताल में रखवा दिया है।

बस स्टैंड से बस बरामद : दुर्घटना के बाद चालक बस को स्थानीय बस स्टैंड पर खड़ी करके भाग गया। बाद में पुलिस ने स्टैंड से बस नंबर एचआर 63 बी 3205 को बरामद कर लिया और उसे थाने ले आई। यह बस झज्जर-बहादुरगढ़ के रूट पर चलती है। हालांकि चालक को अभी तक पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस ने बस चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

X
134ए का रिजल्ट देखने जा रही बच्ची को डंपर ने कुचला, 91% अंक आए थे, बनना था डॉक्टर
Astrology

Recommended

Click to listen..