Hindi News »Haryana »Beri» ग्रामीण ने बिजली की चोरी नहीं करने का लिया संकल्प

ग्रामीण ने बिजली की चोरी नहीं करने का लिया संकल्प

म्हारा गांव जगमग गांव बिजली बचाओ-देश बचाओ के तहत बिजली निगम के इंजीनियर एचपी शर्मा की टीम ने साेमवार काे...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 02:10 AM IST

ग्रामीण ने बिजली की चोरी नहीं करने का लिया संकल्प
म्हारा गांव जगमग गांव बिजली बचाओ-देश बचाओ के तहत बिजली निगम के इंजीनियर एचपी शर्मा की टीम ने साेमवार काे डीघल-जहाजगढ़ में ग्रामीणों को बिजली चोरी न करना और कुंडी न लगाने संकल्प दिलवाया। उन्होंने कहा कि बिजली चोरी करना सामाजिक बुराई है। इसे कानूनी अपराध माना जाता है। लोगों ने कहा कि न तो हम बिजली चोरी करेंगे और न ही बिजली का व्यर्थ प्रयोग करें। इसके साथ ही स्कूलों में विद्यार्थियों को जागरूक किया।

बिजली बचाओ-देश बचाओ म्हारा गांव जगमग गांव बिजली रथ की शुरुअात मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जुलाई 2015 में की थी। यह रथ करनाल, कुरुक्षेत्र, पंचकूला, कैथल, अंबाला, पानीपत, यमुना नगर, सोनीपत, झज्जर-रोहतक के गांवों में प्रचार कर रहा है, जिससे लाइट घाटे में भारी कमी आई है। शर्मा ने बताया की हरियाणा में 2064 गांव में बिजली चोरी खत्म हो चुकी है। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश का प्रत्येक नागरिक अगर पीले बल्ब की बजाए एलईडी बल्ब का प्रयोग करेगा तो बिजली की खपत कम होगी। बिजली पूरी मिलेगी।

म्हारा गांव जगमग गांव बिजली बचाओ-देश बचाओ के तहत ग्रामीणों को दी बिजली चोरी न करने की सलाह

बेरी. िबजली की बचत की संदेश देती िबजली िनगम की टीम।

पीला बल्ब 10 घंटे जलने पर एक यूनिट की होती है खपत

इनवर्टर की बैटरी का खर्च 400-500 रुपए महीना पड़ता है। 24 घंटे बिजली मिलने पर इससे छुटकारा मिलेगा। पीला बल्ब 10 घंटे जलने पर एक यूनिट बिजली खपत करता है। थर्मल में एक यूनिट बनाने में 750 ग्राम कोयला और एक लीटर से ज़्यादा पानी खपत होता है। यदि बिजली बचेगी तो पानी व पर्यावरण बचेगा। लोगों ने इसमें भरपूर सहयोग देने का वायदा किया। इस अवसर पर सरपंच, पंच, अध्यापकगण और स्कूली बच्चे बड़ी संख्या में उपस्थित रहे

बेरी. िबजली िनगम के जागरूकता कैंप में मौजूद बच्चे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×