• Hindi News
  • Haryana
  • Beri
  • बेरी एसडीएम ने आढ़तियों को दिए तिरपाल का इंतजाम करने व उठान में तेजी के निर्देश
--Advertisement--

बेरी एसडीएम ने आढ़तियों को दिए तिरपाल का इंतजाम करने व उठान में तेजी के निर्देश

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 02:15 AM IST

Beri News - एसडीएम अश्विनी कुमार ने बेरी व माजरा-डी अनाज मण्डी का दौरा करते हुए गेहूं खरीद व उठान कार्य का जायजा लिया। अनाज...

बेरी एसडीएम ने आढ़तियों को दिए तिरपाल का इंतजाम करने व उठान में तेजी के निर्देश
एसडीएम अश्विनी कुमार ने बेरी व माजरा-डी अनाज मण्डी का दौरा करते हुए गेहूं खरीद व उठान कार्य का जायजा लिया। अनाज मंडी का दौरा करते हुए उन्होंने आढ़तियों से तिरपाल का इंतजाम करने, ताकि बारिश की स्थिति में गेहूं की बर्बादी न हो सकें।

खरीद एजेंसियों के प्रतिनिधियों को उठान कार्य में तेजी लाने, बोरी के वजन की सही जांच कराने तथा उठान के लिए परिवहन का टेंडर लेने वाली फर्म के प्रतिनिधियों को आढ़ती की मांग के अनुरूप वाहन उपलब्ध कराने निर्देश दिए। अश्विनी कुमार ने गुरुवार को अनाज मंडी बेरी का दौरा करते हुए गेहूं खरीद, किसानों को भुगतान, लेबर की उपलब्धता तथा उठान बारे में जानकारी ली। मार्केट कमेटी सचिव रामनिवास ने एसडीएम को बताया कि बेरी अनाज मंडी में हैफेड, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग तथा भारतीय खाद्य निगम ने गेहूं की खरीद की है। हैफेड ने 1,13,395 क्विंटल, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने 2,45,972 क्विंटल तथा भारतीय खाद्य निगम ने 12,500 क्विंटल गेहूं की खरीद की। जबकि माजरा, भारतीय खाद्य निगम ने 2,30, 985 क्विंटल तथा हैफेड ने 53,040 क्विंटल गेहूं की खरीद की गई है। एसडीएम माजरा (डी) में बनाए गए खरीद केंद्र में परिवहन का टेंडर लेने वाली फर्म के प्रतिनिधि को निर्देश देते हुए कहा कि सभी आढ़तियों को उनकी मांग के अनुरूप प्रतिदिन दो या तीन गाड़ी उपलब्ध कराई जाए। अगर मांग के अनुरूप गाड़ी की पूर्ति नहीं होती तो अनुबंध रद्द करने पर भी विचार किया जा सकता है। मौसम को लेकर आने वाले दिनों के मिले पूर्वानुमान को देखते हुए उठान के कार्य में तेजी आनी चाहिए। साथ ही मौसम में किसी प्रकार की खराबी तो सभी आढ़तियों के पास तिरपाल का इंतजाम होना चाहिए। साथ ही लदान के लिए तैयार की गई बोरियों के वजन की जांच भी कराई। इस अवसर पर मार्केट कमेटी बेरी के चेयरमैन मनीष शर्मा, सहायक सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी बिजेंद्र कुमार, खाद्य एवं आपूर्ति निरीक्षक फूलकंवार, निजी सहायक दिनेश, परमिंद्र मौजूद रहे।

झज्जर मंडी में

बनने लगी जगह

लगातार उठान पर फोक्स करने के कारण अब मंडी से तेजी से जगह बन रही है। गुरुवार को केवल ट्रैक ही ट्रैक नजर आए। हालांकि कुछ आढ़तियों का कहना है कि एजेंसी खरीद हुआ गेहूं ही उठा रही है, ताकि बारिश से पहले अधिक से अधिक गेहूं गोदाम में रखवाया जा सकें।

हैफेड की ओर से खरीदी गई एक हजार एमटी

सरसों को लाखनमाजरा में किया जाएगा स्टॉक

झज्जर | खरीदी जा रही सरसों को लाखनमाजरा में स्टॉक किया जाएगा। एक हजार एमटी सरसों के लिए जगह उपलब्ध होने पर अब अगले दो दिन में यहां रखे स्टॉक को क्लियर किया जाएगा। वहीं दूसरी ओर हैफेड के लिए खरीद कर रही कोआपरेटिव सोसायटी ने मौसम की भविष्यवाणी को देखते हुए अगले दो दिन खरीद न करने का फैसला किया है। झज्जर में हैफेड व डीएफएसई की ओर से सरसों की खरीद की जा रही है। हैफेड केंद्रीय एजेंसी के लिए खरीद कर रही है, जबकि डीएफएसई की ओर से हरियाणा सरकार के लिए खरीद की जा रही है। अब दोनों ही एजेंसियां सरसों के उठान पर जोर दे रही है। लेकिन इस बीच हैफेड को उठान करने के लिए गोदाम में जगह के लिए दिक्कत आ रही है। हैफेड डीएम सुरेंद्र चौधरी ने बताया कि वे जो सरसों खरीद रहे हैं वह नेफेड के लिए खरीद रहे हैं। यह सरसों एफसीआई के गोदाम में लगनी होती है, लेकिन इससे पहले जहां भी जगह उपलब्ध कराई गई वहां पर अधिक संख्या में स्टॉक नहीं लगा सका।

दो दिन रहेगी सरसों की खरीद बंद

हैफेड, नेफेड के लिए खरीद कर रही है, लेकिन हैफेड के काम में कोआपरेटिव सोसायटी हाथ बटा रही है, जिसने आगे हैंडलिंग एजेंट बनाए हुए हैं। सरकार की ओर से 27 व 28 अप्रैल को बूंदाबांदी होने की संभावना के संकेत मिलने के बाद गुरुवार को दूसरे दिन भी खरीद को रोके रखा। सोसायटी मैनेजर कपिल कुमार ने बताया कि मौसम के रुख को देखते हुए शुक्रवार व शनिवार को खरीद नहीं की जाएंगी। इसके बावजूद यदि बारिश रहती है, तब मौसम के रुख को देकर ही आगे का कार्यक्रम तैयार किया जाएगा।


X
बेरी एसडीएम ने आढ़तियों को दिए तिरपाल का इंतजाम करने व उठान में तेजी के निर्देश
Astrology

Recommended

Click to listen..