Hindi News »Haryana »Beri» ट्रेनी नर्सों ने नाटिका,पोस्टर व चार्ट से मरीजों को बीमारियों से किया सावधान

ट्रेनी नर्सों ने नाटिका,पोस्टर व चार्ट से मरीजों को बीमारियों से किया सावधान

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर शहर के महाराजा अग्रसेन नर्सिंग कॉलेज की ओर से शनिवार को सिविल अस्पताल में स्वास्थ्य...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 08, 2018, 03:05 AM IST

ट्रेनी नर्सों ने नाटिका,पोस्टर व चार्ट से मरीजों को बीमारियों से किया सावधान
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर शहर के महाराजा अग्रसेन नर्सिंग कॉलेज की ओर से शनिवार को सिविल अस्पताल में स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम किया गया। इसके तहत ट्रेनी नर्सों ने नाटिका, पोस्टर और चार्ट के जरिए मरीजों व उनके तिमारदारों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। सुबह करीब 11 बजे जीएनएम की छात्राओं ने नाटक से लोगों को एड्स व एचआईवी के दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी दी। लोगों को बताया कि एड्स कभी भी एक साथ खान-पान, रहने व हाथ मिलाने से नहीं होता बल्कि इसका संक्रमण सुई, ब्लड लगे सर्जिकल ब्लेड आदि के दोबारा प्रयोग से होता है। लोगों को यह भी बताया कि एड्स व एचआईवी दोनों अलग-अलग हैं। एचआईवी पीड़ित व्यक्ति आराम से जीवन गुजार सकता है, लेकिन जब रोगों से लड़ने की उसकी क्षमता खत्म हो जाती है तब वह अवस्था एड्स कहलाती है।

बहादुरगढ़. सिविल अस्पताल में नाटिका के जरिए मरीजों और तीमारदारों को बीमारियों के प्रति जागरूक करतीं ट्रेनी नर्स।

छात्र-छात्राओं को टीबी-एड्स के प्रति किया जागरूक

बादली | चौधरी धीरपाल राजकीय महाविद्यालय में विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर विस्तार व्याख्यान कार्यक्रम किया गया। इसमें जिला स्वास्थ्य विभाग के डाॅ. राजेंद्र कुमार और बेरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डाॅ. सुभाष लढ़वाल मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद हुए। अध्यक्षता प्राचार्य एसएन शर्मा ने की। मुख्य वक्ता डाॅ. राजेंद्र कुमार ने छात्र-छात्राओं को टीबी और एड्स जैसी खतरनाक बीमारियों के बारे में जागरूक किया। संजय, योगिता, संगीता और पूजा, पूनम गुलिया सहित सभी प्राध्यापक एवं छात्र-छात्राएं मौजूद रहे। इस दौरान सभी छात्रों ने स्वास्थ्य को लेकर जागरूक रहने का संकल्प लिया।

रोगी से घबराने की जरूरत नहीं:कॉलेज प्रिंसिपल प्रोफेसर ललिता भट्ट ने बताया कि टीबी के बारे में भी नाटिका पेश की गई, जिसमें बताया गया कि क्षय रोग की चपेट में आने पर रोगी से घबराने की जरूरत नहीं बल्कि नियमित दवा लेने पर इस रोग से छुटकारा पाया जा सकता है। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अिधकारी डॉ. सतनाम वर्मा, एसएमओ डॉ. सजदेव, डॉ. मधु कादयान, डॉ. देवेंद्र मेहरा समेत सभी फैकल्टी सदस्य मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×