--Advertisement--

तेरापंथ भवन में भक्तामर महानुष्ठान 4 को

भिवानी | जैन धर्म त्याग, तपस्या व संयम पर आधारित धर्म है। आज भी जैन मुनियों में शुद्ध साधना देखी जा सकती है। जैन...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:00 AM IST
भिवानी | जैन धर्म त्याग, तपस्या व संयम पर आधारित धर्म है। आज भी जैन मुनियों में शुद्ध साधना देखी जा सकती है। जैन मुनियों की रहन-सहन व साधना पद्धति को देखकर अनेक लोग आश्चर्य चकित होते हैं। यह बात तेरापंथ सभा के संरक्षक सुरेन्द्र जैन एडवोकेट ने तेरापंथ भवन में भक्तामर स्तोत्र के महानुष्ठान की तैयारियों का जायजा लेते हुए कही। उन्होंंने बताया कि भक्तामर स्तोत्र के महानुष्ठान 4 फरवरी रविवार को सुबह 9.30 बजे से तेरापंथ भवन, लोहड बाजार में कुलदीप कुमार के सानिध्य व युवा संत मुनि मुकुल कुमार के निर्देशन में किया जाएगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..