Hindi News »Haryana »Bhiwani» फ्रंट पेज के शेष

फ्रंट पेज के शेष

उसकातर्क था कि रेलवे का बजट अब कुल बजट की तुलना में काफी छोटा हो चुका है। फरवरीके पहले हफ्ते में पेश हो सकता है बजट :...

Bhaskar News Network | Last Modified - Sep 22, 2016, 02:00 AM IST

उसकातर्क था कि रेलवे का बजट अब कुल बजट की तुलना में काफी छोटा हो चुका है। फरवरीके पहले हफ्ते में पेश हो सकता है बजट : सरकारबजट सत्र 25 जनवरी 2017 से पहले बुला सकती है। एक फरवरी को आम बजट पेश करने से एक-दो दिन पहले आर्थिक समीक्षा पेश हो सकती है। जीडीपी के अग्रिम अनुमान आंकड़े अब फरवरी के बजाय 7 जनवरी को पेश हो सकते हैं।

कासनीने...

किसको क्या जिम्मेदारी मिली

नितिन यादव : एमडी,उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम डायरेक्टर हरियाणा बिजली सुधार, अब सचिव, गृह विभाग-1 होंगे।

मोहम्मदशाइन : अवकाशसे लौटे हैं। अब एमडी, सहकारी चीनी मिल्स लिमिटेड, प्रसंघ होंगे।

वजीरसिंह गाेयत : विशेषसचिव (गृह-1 विभाग), एमडी (हरियाणा भूमि सुधार विकास निगम), डायरेक्टर (अनुसूचित जाति तथा पिछड़ा वर्ग विभाग), विशेष सचिव एमडी (हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम), एमडी (पिछड़ा कल्याण एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण निगम) अब डायरेक्टर (उद्योग एवं वाणिज्य विभाग), विशेष सचिव (उद्योग विभाग), एमडी (हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम) एमडी (पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण निगम), एमडी (हरियाणा भूमि सुधार विकास निगम के प्रबंध निदेशक)

सुभाषचंद्रा : सचिव(राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग), महानिदेशक(चकबंदी एवं भूमि रिकॉर्ड), विशेष कलेक्टर (मुख्यालय), विशेष एलएओ, अब सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग-2), सचिव (वित्त विभाग) अतिरिक्त कार्यभार

विजयेन्द्रकुमार : सचिव(सामान्य प्रशासन एवं प्रशासनिक सुधार विभाग), सीईओ (हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड), महानिदेशक सचिव (पर्यावरण विभाग), अब सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग-1), महानिदेशक (चकबंदी एवं भूमि रिकाॅर्ड), विशेष कलेक्टर(मुख्यालय) और विशेष एलएओ का अतिरिक्त कार्यभार।

छोटेकी...

8मई को भिवानी कोर्ट में उसे पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया। परिजनों ने 16 मई को उसे जमानत पर रिहा करा लिया। मंगलवार को इसी मामले में तोशाम के कोर्ट में सुनवाई थी। इस दौरान कोई दूसरा युवक पेश हुआ। तभी एक वकील ने कहा कि भिवानी कोर्ट ने जिस दीपक को जेल भेजा था, ये वह नहीं है। यह सुनकर युवक कोर्ट से खिसक गया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने मामले की जांच की तो खुलासा हुआ कि ओवरलोडिड वाहन मोखरा का बजरंग चला था। उसने खुद को दीपक बताते हुए छोटे भाई दीपक का लाइसेंस दिखाया। परिजनों ने भी यह बात छिपाई। इस पर कोर्ट ने दोनों भाइयों और मामले में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दिए। तोशाम के थाना प्रभारी कुलदीप ने बताया कि दीपक और बजरंग के खिलाफ धारा 417, 419, 420, 177 के तहत केस दर्ज कर लिया है। अब उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। वहीं, वरिष्ठ अधिवक्ता सत्यवान श्योराण का कहना है कि इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही रही है। पुलिस को लाइसेंस का वेरिफिकेशन कराना चाहिए था। मामले की गहनता से जांच होनी चाहिए। अगर इसमें किसी पुलिसकर्मी ने लापरवाही की है तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

शहरकी...

हरदिन एक ऐसे व्यक्ति से बात करें, जिसे आप जानते-पहचानते नहीं हैं। अभियान से जुड़े आर्टिस्ट डेविड ब्लैकबेल कहते हैं ‘मैं खुद एेसा तीन सालों से कर रहा हूं। लेकिन अब मैं अकेले लोगों से मिलकर उन्हें अजनबियों से बातचीत करने को कहता हूं। क्योंकि शहर में लोग इस कदर व्यस्त हो गए हैं कि उनके पास अपनों से बातचीत की भी फुर्सत नहीं है।’

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhiwani

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×