Hindi News »Haryana »Bhiwani» नेशनल हाईवे 148बी का डिजाइन फाइनल, हालुवास से निर्माण शुरू

नेशनल हाईवे 148बी का डिजाइन फाइनल, हालुवास से निर्माण शुरू

राजस्थान के पनियाला मोड़ से हांसी-हिसार तक बनने वाले नेशनल हाईवे 148बी के प्रथम चरण का निर्माण कार्य शुरू हो चुका...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:05 AM IST

राजस्थान के पनियाला मोड़ से हांसी-हिसार तक बनने वाले नेशनल हाईवे 148बी के प्रथम चरण का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। पहले चरण का यह कार्य भिवानी जिले के गांव हालुवास के पास से गुजरने वाली माइनर से लेकर महेंद्रगढ़ रोड स्थित मुंदोली गांव तक किया जाएगा। इस सड़क को फोरलेन करने का कार्य जुलाई 2019 यानि 18 महीनों में पूरा करने की समय-सीमा निर्धारित की गई है। इस पर लगभग 212.3 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। वहीं मुंदोली से आगे के हिस्से का निर्माण भी जल्द शुरू होगा। इसके लिए सड़क का यह हिस्सा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया को ट्रांसफर हो चुका है तथा टेंडरिंग प्रक्रिया चल रही है।

गौरतलब है कि दिल्ली-हिसार राष्ट्रीय राजमार्ग 8 और दिल्ली-जयपुर राजमार्ग 10 को आपस में जोड़ने की यह योजना 2009-10 में बनी थी। इस योजना के तहत भिवानी जिले के गांव खरक से लेकर नारनौल के राय मलिकपुर तक 151 किलोमीटर मार्ग को साउथ नार्थ कॉरिडोर बनाया जाना था। इसका निर्माण कार्य 2015 तक पूरा किया जाना था। इसके लिए करीब 1200 करोड़ रुपए का बजट अलॉट करते हुए हैदराबाद की आईवीसीआरएल कंपनी को वर्क अलॉट भी हो चुका था। निर्माण कार्य शुरू करने से पहले कंपनी ने 24 करोड़ रुपए की सिक्योरिटी राशि जमा करा दी थी, लेकिन किन्हीं कारणों से कंपनी को अपनी सिक्योरिटी राशि गंवानी पड़ी। इसके बाद सरकार बदली तो यह योजना भी बदल गई। भिवानी-दादरी के बीच बनने वाले इस फोरलेन की दोनों तरफ की सड़कों की चौड़ाई 33-33 फीट की होगी। सड़क मार्ग के बीचों-बीच 5 से 7 फीट का डिवाइडर बनाया जाएगा ताकि इसमें पेड़ पौधे लगाए जा सकें। इसके अलावा सड़क मार्ग के दोनों तरफ भी हरियाली बढ़ाने के लिए जगह छोड़ी जा रही है। सड़क निर्माण का कार्य पूरा होने के बाद वन विभाग यहां पौधे लगाएगा।

भिवानी से दादरी की ओर जाने वाला रोड, जो फोरलेन बन रहा है।

मालवाहक वाहनाें को मिलेगा शॉर्टकट

148बी नेशनल हाईवे बनने से अनेक राज्यों के लोगों को फायदा होगा। इस मार्ग से जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब से राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश के साथ साथ दक्षिण भारत की ओर से आने जाने वाले मालवाहक वाहन चालकों को हरियाणा से गुजरने के लिए एक छोटा और नया रास्ता मिल जाएगा। अभी तक मालवाहक वाहन जींद से रोहतक-झज्जर-रेवाड़ी होते हुए राजस्थान में एंट्री करते हैं। इस मार्ग से उन्हें 50-60 किलोमीटर का अतिरिक्त चलना पड़ता है।

कितलाना मंदिर के पास लगेगा टोल

फिलहाल इस नेशनल हाईवे पर भिवानी-दादरी मार्ग पर स्थित कितलाना गांव में टोल लगाया जाएगा। इसके लिए यहां सड़क की चौड़ाई भी अधिक रखी जाएगी। इसके लिए कार्य भी जोरों से चल रहा है। टोल पर लगभग 8 से 10 लेन के मार्ग को तैयार किया जाएगा।

जल्द शुरू होगा शेष हिस्से का निर्माण

नेशनल हाईवे 148बी की डिजाइन फाइनल हो चुकी है। भिवानी की तरफ से इस नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। शेष हिस्से का कार्य भी जल्द शुरू हो जाएगा। -वीशु कुमार, कंसल्टेंट डिजाइन एवं जनरल मैनेजर राइट्स दिल्ली

इन रास्तों से गुजरेगा मार्ग

प्रदेश में सरकार का बदलाव होने पर इस मार्ग को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को सौंप दिया गया। मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए इसे नेशनल हाइवे नंबर 148बी बनाने की बात कही। यह मार्ग दिल्ली-जयपुर नेशनल हाइवे पर राजस्थान के पनियाला मोड़ से आरंभ होकर रायमलिकपुर, नांगल चौधरी, नारनौल, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी होते हुए हांसी तथा बाद में हांसी से शुरू होकर बरवाला, टोहाना-मूनक होते हुए जाखल तक बनेगा। उसके बाद यह मार्ग आगे पंजाब राज्य के बरेटा बुढ़लाडा, मानसा होते हुए बठिंडा तक जाएगा।

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नेशनल हाईवे 148बी का डिजाइन फाइनल, हालुवास से निर्माण शुरू
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhiwani

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×