• Hindi News
  • Haryana
  • Bhiwani
  • न्यूनतम पारा 4.20 बढ़ा, 10 के बाद होगी बूंदाबादी
--Advertisement--

न्यूनतम पारा 4.20 बढ़ा, 10 के बाद होगी बूंदाबादी

Bhiwani News - बीते सप्ताह से लगातार गर्मी अपने तेवरों से आमजन काे बेहाल कर रही है। अप्रैल माह में गर्मी से बेहाल लोगों के लिए...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
न्यूनतम पारा 4.20 बढ़ा, 10 के बाद होगी बूंदाबादी
बीते सप्ताह से लगातार गर्मी अपने तेवरों से आमजन काे बेहाल कर रही है। अप्रैल माह में गर्मी से बेहाल लोगों के लिए अगले कुछ दिन थोड़े सुकून भरे रहेंगे। न्यूनतम पारा लुढ़कने से गर्मी से राहत मिलेगी। वहीं इससे दिनभर के काम करने में धूप रोड़ा नहीं बनेगी। एक अप्रैल काे अधिकतम तापमान 36.0 डिग्री तो न्यूनतम तापमान 21.0 डिग्री रहा। रविवार काे हवा 11 किलोमीटर प्रतिघंटा की दर से बही वहीं नमी की मात्रा 25 प्रतिशत रही। शनिवार काे अधिकतम तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 16.8 डिग्री रहा।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार एक अप्रैल से पारा बढ़ना शुरू हो जाएगा। पारा बढ़ने के बाद गर्मी का बढ़ना भी स्वाभाविक है। इस कारण अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा गर्मी महसूस होगी। वहीं 10 अप्रैल के बाद आसमान में बादल छाने से पारा पांच डिग्री तक गिर सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक 10 से 13 अप्रैल के बीच कहीं-कहीं बूंदाबांदी की भी पूरी संभावना है। मौसम के बदलते रूख देखते हुए किसानों काे भी अपनी फसल संबंधी अपनी तैयारी पूरी करनी चाहिए। इन दिनाें में सामान्यतः अधिकतम तापमान 32 डिग्री व न्यूनतम 17 डिग्री के आसपास हाेता है। मौसम में वेरिएशन के कारण सामान्य अस्पताल में वायरल फीवर की शिकायत के चलते, तापमान में अचानक आई तेजी के कारण उल्टी दस्त के मरीजों की संख्या में एकाएक बढ़ गई। डॉक्टरों ने ज्यादा से ज्यादा पानी पीने तथा बाहर निकलते समय अच्छी प्रकार से खुद काे कवर कर निकलने की सलाह दे रहे हैं। चिकित्सकों के अनुसार दोपहर 12 बजे से दो बजे के बीच घर से बाहर तभी निकले जब बहुत जरूरी काम हो। ये बढ़ी हुई गर्मी नागरिकों के स्वास्थ्य पर भी असर डाल सकती है। गर्मी की दस्तक के साथ ही क्षेत्र में दिनचर्या भी पूरी तरह से बदली हुई नजर आ रही है। एक ओर किसान जहां खेतों में फसल कटाई में व्यस्त हो गए है वहीं बाजार सुनसान नजर आ रहे हैं। बाजारों से दिन के समय तो रौनक जैसे गायब हो गई है। सामान्यतः मार्च के आखिरी दिनाें में अधिकतम तापमान 32 डिग्री व न्यूनतम 17 डिग्री के आसपास बन रहता है। शनिवार काे अधिकतम तापमान 37 डिग्री था जाे सामान्य से 5 डिग्री अधिक रहा वहीं गत वर्ष मार्च माह इस वर्ष की अपेक्षा अधिक था। गत वर्ष 31 मार्च काे अधिकतम तापमान 40 डिग्री रिकार्ड किया गया था।

रविवार को अधिकतम तापमान 36.0 और न्यूनतम 21.0 डिग्री दर्ज किया गया

धूप से बचने के लिए मुंह व सिर पर कपड़ा बांधकर अपने गंतव्य को जाती साइकिल सवार युवती।

आगामी दिनाें में पारे की ये रहेगी चाल

तिथि अधिकतम तापमान

2 अप्रैल 37.0 22.0

3 अप्रैल 38.0 23.0

4 अप्रैल 38.0 23.0

5 अप्रैल 39.0 24.0

6 अप्रैल 39.0 24.0

7 अप्रैल 39.0 24.0

8 अप्रैल 39.0 24.0

(संभावित तापमान डिग्री सेल्सियस में)

वायरल फैलने की आशंका

सामान्य अस्पताल के वरिष्ठ बाल राेग विशेषज्ञ डॉ. राज महता ने बताया कि बदलते मौसम में वायरल बढ़ सकता है। इसी कारण वायरल फीवर होने का खतरा भी ज्यादा बना रहता है। गर्मी बढ़ने के साथ ही ऐसे मरीजों की संख्या में बढ़ सकती है। ऐसे में नागरिकों को गर्मी से बचने के लिए पर्याप्त उपाय करने चाहिए।

X
न्यूनतम पारा 4.20 बढ़ा, 10 के बाद होगी बूंदाबादी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..