डीजीपी के आदेशों के बाद चालान काटने में अाई 50% कमी, अब ऑटो चालकों पर रहेगी नजर

Bhiwani News - हरियाणा पुलिस महानिदेशक की ओर से नियमों की पालना करने वाले वाहन व चालकों के दस्तावेजों की जांच के लिए वाहनों को...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:25 AM IST
Bhiwani News - haryana news after 50 reduction in invoicing after the orders of dgp now the auto drivers will stay on
हरियाणा पुलिस महानिदेशक की ओर से नियमों की पालना करने वाले वाहन व चालकों के दस्तावेजों की जांच के लिए वाहनों को रोकने की प्रथा को बंद करने के निर्देशों का असर भिवानी शहर में दिखाई दिया। जो पुलिस दिनभर दोपहिया वाहन चालकों के चालान काटने में लगी रहती थी वह अब वह भारी वाहनों, ऑटो रिक्शा व स्कूटी की जांच करती दिखाई दी, जबकि नियमों का पालन करने वाले दोपहिया वाहन चालक पुलिस जांच के बिना शहर के सड़क मार्गों पर सरपट दौड़ते नजर आए। आदेशों के बाद दाे दिन में चालान की संख्या 50 फीसदी तक कम दर्ज की गई।

यातायात के सभी नियमों की पालना करते हुए सड़क पर चलने वाले वाहनों को पुलिस अब कागजों की जांच के लिए नहीं रोकेगी और न ही नियमों की पालना करने वाले दोपहिया वाहनों को रुकवाकर उन्हें परेशान करेगी। हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने गुरुवार को पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि केवल वाहनों व चालकों के दस्तावेजों की जांच के लिए वाहनों को रोकने की प्रथा को बंद करें। उन्हीं वाहन व चालकों को रोककर जांच करें जो यातायात नियमों का उल्लंघन करते दिखाई देते हैं और जरूरत पड़े तो चालान भी काटे।

पहले बाइक चालकों के साथ इस तरह पेश आती थी पुलिस : शहर के सभी मुख्य चौराहों व सरकुलर राेड पर पुलिस दिनभर यातायात व्यवस्था को सुधारने की बजाए दोपहिया वाहनों के चालान काटने पर ज्यादा जोर देती थी। घंटाघर, हांसी गेट, महम गेट, चिड़िया घर मोड़, रोहतक गेट, लोहारू रोड ओवरब्रिज स्थित अनाज मंडी के सामने, हांसी रोड स्थित सेक्टर मोड़ आदि चौराहों व तिराहों पर पुलिस कर्मी सड़क मार्गों के चारों तरफ खड़े हो जाते थे और जैसे ही कोई दोपहिया वाहन चालक आता दिखाई देता उसे रोक लेते, भले ही वह यातायात नियमों का पालन करता हुआ ही क्यों न आ रहा हो।

इसके बाद पुलिस कर्मी वाहन के कागजों और ड्राइवर के लाइसेंस की जांच करती। अगर कोई एक कागज भी पूरा नहीं मिलता या प्रमाण पत्र की डेट गुजरे हुए एक दिन भी हो चुका हाेता तो भी उसका चालान काट देती थी। यहां तक कि बाइक चालक ने अगर पैरों में साधारण चप्पल भी पहन रखी है तो भी कई बार चालान काट दिया जाता था। बाइक सवार को रोकने के बाद एक पुलिस कर्मी या होमगार्ड का जवान कागजों की जांच किए बिना ही तुरंत बाइक की चाबी निकाल लेता था। जिसे लेकर कई बार दोपहिया वाहन चालक व पुलिस के बीच विवाद की स्थिति भी पैदा हो जाती थी।

पहले प्रतिदिन 200 और आदेशों के बाद 100 से 110 वाहनों के ही चालान : पुलिस शहर में हर रोज लगभग 200 वाहनों के चालान करती थी, जिसमें से 150 से 175 चालान दोपहिया वाहनों के होते थे। आदेशों से एक दिन पहले गुरुवार को भी पुलिस ने लगभग 150 वाहनों के चालान काटे थे, जिसमें लगभग 110 दोपहिया वाहन थे। लेकिन पुलिस महानिदेशक के नियमों का पालन करने वाले दोपहिया वाहन चालकों को न रुकवाने के आदेश के बाद पुलिस ने केवल 80 से 110 दोपहिया वाहनों के ही चालान किए, जो यातायात नियमों की पालना नहीं कर रहे थे। जो बाइक सवार नियमों की अवहेलना करता दिखाई नहीं दिया उसके वाहन को शुक्रवार को जांच के लिए नहीं रुकवाया गया।

भिवानी। घंटाघर चौक से गुजरते हुए चार ऑटो।

इन वाहनों की हुई जांच






ऑटो चालक बिगाड़ रहे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था

शहर में बिना किसी रोक टोक के दौड़ रहे 4500 ऑटो रिक्शा ने यातायात व्यवस्था को बिगाड़ रखा है। ऑटो चलाते समय कुछ चालक यातायात नियमों की भी परवाह नहीं करते है। शहर में दौड़ने वाले ऑटो में 1500 ऑटो एेसे है जो दस साल से भी पुराने है। जबकि 500 से 700 ऑटो ऐसे है जिनके चालकों के पास ऑटो का इंश्योरेंस ही नहीं है। शहर के सरकुलर रोड व मुख्य चौराहों के पास रोड पर दो से तीन ऑटो एक साथ दौड़ते नजर आते है। जो जाम के साथ साथ कई बार दुर्घटनाओं का भी कारण बनते है।

व्यवस्था बिगाड़ने वाले नहीं बख्शे जाएंगे


लागू रहेंगे ट्रैफिक रूल


X
Bhiwani News - haryana news after 50 reduction in invoicing after the orders of dgp now the auto drivers will stay on
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना