• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Bhiwani
  • Bhiwani News haryana news damage from market place in the market loss in mandis government procurement of wheat due to moisture increase even today

रात को हुई बूंदाबांदी से मंडियों में नुकसान, नमी बढ़ने से रुकी गेहूं की सरकारी खरीद, आज भी बारिश के अासार

Bhiwani News - रात को हुई बूंदाबांदी से अनाज मंडी में खुले आसमान के नीचे पड़ी सरसों व गेहूं की फसल भीग गई। इससे किसान व आढ़तियों को...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:26 AM IST
Bhiwani News - haryana news damage from market place in the market loss in mandis government procurement of wheat due to moisture increase even today
रात को हुई बूंदाबांदी से अनाज मंडी में खुले आसमान के नीचे पड़ी सरसों व गेहूं की फसल भीग गई। इससे किसान व आढ़तियों को नुकसान की आशंका है। बरसात से गेहूं में आई नमी से मंडी में मंगलवार को सरसों की सरकारी खरीद नहीं हो पाई व वहीं बूंदाबांदी से ही खेतों में पड़ी गेहूं की फसल निकालने का कार्य भी बाधित हो गया है।

सोमवार को अनाज मंडी में गेहूं की बंपर आवक हुई थी और एजेंसी ने 26 हजार क्विंटल सरसों की खरीद की थी। लेकिन रात को हुई बूंदाबांदी से मंडी में खुले आसमान के नीचे पड़ी गेहूं की फसल भीग गई। इस गेहूं में नमी की मात्रा 25 से 30 प्रतिशत तक होने के कारण मंगलवार को एजेंसी ने सरकारी खरीद नहीं की। सोमवार को खरीदे गए 26 हजार क्विंटल गेहूं में से 10 हजार क्विंटल गेहूं मंडी में शेड से बाहर था। उसमें भी नमी की मात्रा बढ़ गई है। बरसात में भीगी फसल में नमी की मात्रा अधिक होने के कारण अब किसान दो से तीन दिन तक अपनी गेहूं की बिक्री नहीं कर पाएगा। मंडी में शेड से बाहर लगभग 15 हजार क्विंटल गेहूं किसानों का पड़ा हुआ था, जिसकी खरीद मंगलवार को की जानी थी, लेकिन भीगने से गेहूं में नमी की मात्रा 30 प्रतिशत तक पहुंच गई। इससे गेहूं खराब होने की भी आशंका है। जब तक गेहूं को अच्छी तरह से नहीं सुखाया जाएगा खरीद नहीं हो पाएगी। किसान मंडी में भीगे हुए गेहूं को फैला कर सुखा रहा है ताकि नमी की मात्रा 12 प्रतिशत से कम हो सके।

ढिगावा में मंडी की दीवार टूटी, रोड पर आया गेहंू

ढिगावा मंडी| न‌ई अनाज मंडी में गेहूं की भारी आवक हो रही है और सरकारी खरीद शुरू नहीं हो पाई है। मंगलवार को मंडी की दीवार गेहूं का दबाव न सहने से गिर गई। दीवार गिरने के बाद जेसीबी से गेहूं को हटाया गया। मंडी में 15 हजार क्विंटल गेहूं पड़ा है, लेकिन परचेजर खरीद के लिए पहुंच रहे हैं। मार्केट कमेटी के ऑक्शन रिकॉर्डर भोलाराम ने बताया कि मंडी में स्पेस कम है। मंडी में एक जगह पर अधिक गेहूं डालने से दीवार गिर गई।

खेतों में पड़ी फसल निकालने का कार्य भी बाधित

खेतों में पड़ी गेहूं की फसल में भी नमी आने से मशीन से गेहूं निकालने का कार्य प्रभावित हो गया है। लगभग 90 प्रतिशत फसल अब भी खेतों में पड़ी हुई है। जो किसान फसल को अगले एक-दो दिन में निकालवाने थे अब वे नमी के कारण चार-पांच तक नहीं निकाल पाएंगे।

भिवानी। सोमवार रात आई बरसात के बाद अनाजमंडी में एकत्र पानी व पास में पड़ा भीगा हुआ गेहूं।

बढ़ गई है नमी की मात्रा

अनाज मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद करने वाले परचेजर अधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि बरसात के कारण गेहूं में नमी की मात्रा बढ़ गई है। इसलिए मंगलवार को मंडी में गेहूं की खरीद शुरू नहीं की गई है। अगले एक-दो दिन और खरीद प्रभावित रह सकती है।

सरसों खरीद का शेड्यूल जारी

तोशाम| तोशाम नई अनाज मंडी में चल रही सरसों की सरकारी खरीद के लिए मार्केट कमेटी ने मंगलवार को शेड्यूल की चौथी सूची जारी की है। मार्केट कमेटी के सचिव अमित रोहिल्ला ने बताया कि शेड्यूल के अनुसार 18 अप्रैल को गांव पिंजोखरा, गारणपुरा और निगाणा कलां, 19 को कतवार व गांव थिलोड़, 20 को गांव आलमपुर और 22 अप्रैल को गांव तोशाम व झांवरी के किसानों की सरसों खरीदी जाएगी। उन्होंने बताया कि सरसों में नमी आठ प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए वहीं सरसों पुरानी भी न हो। सरसों का रजिस्ट्रेशन होना भी जरूरी है।

बूंदाबांदी से न्यूनतम पारा 6.7 व अधिकतम 3 डिग्री लुढ़का

भिवानी | मौसम के अच्छे मिजाज से इस सीजन में फसल अच्छी तरह से पकी है। मौसम के बदलते स्वरूप से इन दिनों फसलों खासकर गेहूं पर दो दिन संकट के बादल छाए रहने की अासार हैं। सोमवार रात 11 बजे के बाद 60 से 70 किलोमीटर की स्पीड से आंधी चली। इससे शहर सहित आसपास के इलाकों में हल्की बरसात भी हुई। आगामी एक दाे दिन में बरसात के साथ यदि तेज हवा चली तो नुकसान बढ़ सकता है।

सोमवार शाम से बदले मौसम के कारण साेमवार काे पूरा दिन जिले में बादल छाए रहे। इसके साथ ही तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। मंगलवार को अधिकतम तापमान 36 डिग्री व न्यूनतम तापमान 19.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि सोमवार को अधिकतम तापमान 39.0 व न्यूनतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस था। मौसम में हुए बदलाव से अधिकतम व न्यूनतम तापमान दाेनाें में गिरावट दर्ज की गई। आईएमडी के अनुसार 17 अप्रैल को आंधी चलने, आमतौर पर बारिश या गरज या धूल की बौछार के साथ आसमान में बादल छा सकते हैं। भिवानी की नई अनाज मंडियों में सोमवार को सरकारी खरीद के पहले दिन 26 हजार क्विंटल गेहूं की खरीद की गई थी। वहीं मार्केटिंग बोर्ड के सीओ जे गणेशन ने सभी मार्केट कमेटी के सचिवों को पत्र के जरिए आदेश दिए गए हैं कि किसानों का गेहूं बरसात के कारण भीगने न पाए।

गेहूं को हो सकता है नुकसान

कृषि अधिकारियों का कहना है कि तेज हवा चलने के साथ यदि ओले पड़े तो गेहूं की तैयार फसल को नुकसान हो सकता है। बरसात में फसल के भीगने से इसकी क्वालिटी भी प्रभावित हो सकती है। अमूमन अप्रैल में इस तरह से पश्चिम विक्षोभ आते हैं और बरसात भी होती हैं लेकिन ओले पड़ने या तेज हवा से नुकसान हो सकता है।

जानिए: कैसा रहेगा मौसम

 मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के चलते अंधड़ के साथ बरसात हुई है। 17 अप्रैल काे बरसात होने के आसार बने हुए हैं। इससे 40 से 60 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलने के साथ ही मेघ गर्जना के साथ बरसात हो सकती है।

X
Bhiwani News - haryana news damage from market place in the market loss in mandis government procurement of wheat due to moisture increase even today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना