• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Bhiwani
  • Bhiwani News haryana news the registration of the farmers of loharu dhigawa did not happen due to the procurement of the government

सरसाें की सरकारी खरीद रोकी जाने से किसान नाराज लोहारू-ढिगावा के जमीदारों का नहीं हुआ पंजीकरण

Bhiwani News - सरसाें की सरकारी खरीद फिलहाल बंद होने से किसानों में रोष बना हुआ है। अभी भी जिले में हजारों किसान ऐसे है जिनकी...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:31 AM IST
Bhiwani News - haryana news the registration of the farmers of loharu dhigawa did not happen due to the procurement of the government
सरसाें की सरकारी खरीद फिलहाल बंद होने से किसानों में रोष बना हुआ है। अभी भी जिले में हजारों किसान ऐसे है जिनकी पंजीकृत सरसों की बिक्री शेष है। भिवानी, लोहारू, बहल व ढिग़ावा मंडी क्षेत्र के किसानों की केवल प्रति किसान 25 क्विंटल सरसों की ही खरीदी गई है। लोहारू व ढिगावां में लगभग 500 किसान ऐसे भी है जिनके फार्म ऑनलाइन न होने के कारण सरसों की बिक्री अभी तक नहीं कर पाए। भारतीय किसान यूनियन ने अधिकारियों पर सरसों बिक्री टाेकन में घोटाले के भी आरोप लगाए हैं।

जिले में इस बार सरकार ने अभी तक रिकॉर्ड सरसों की खरीद की है। इसके बावजूद किसानों की सरसों अभी शेष है। भिवानी क्षेत्र में गांव के शेड्यूल के अनुसार प्रत्येक किसान से 25-25 क्विंटल सरसों की खरीद की गई। लेकिन किसी भी गांव का दोबारा से शेड्यूल जारी नहीं किया गया। इससे पंजीकृत किसानों की शेष सरसों बिक्री नहीं हो पाई है। ढिग़ावा मंडी में सरकार ने इस बार पहले से चार गुणा सरसों अधिक खरीदी है। इसके बावजूद कुछ किसान अब भी सरसों बिक्री के इंतजार में है। लोहारू क्षेत्र में 500 किसान ऐसे हैं जिन्होंने ऑफलाइन फार्म जमा करवाए थे लेकिन कमेटी व हैफेड प्रशासन फार्म को ऑनलाइन कर सका।

इसके चलते किसान सरसों की सरकारी खरीद में भाग लेने से वंचित रह गए। तोशाम में भी कई गांव शेड्यूल से वंचित रहने के कारण सरसों बिक्री नहीं कर पाए है। भारतीय किसान यूनियन ने टोकन जारी करने में अधिकारियों पर भेदभाव व घोटाले के आरोप लगाकर मामले की उच्चस्तरीय जांच करवाने की मांग की है।

जिले में पिछले वर्ष से अधिक मात्रा में खरीदी गई सरसों

एजेंसी ने अभी तक जिले की मंडियों से लगभग दस लाख क्विंटल सरसों सरकारी समर्थन मूल्य 4200 रुपये प्रति क्विंटल के भाव खरीदी है। भिवानी अतिरिक्त चारा मंडी में इस बार एक लाख 85 हजार क्विंटल सरसों खरीदी गई। जबकि पिछले वर्ष लगभग एक लाख 15 हजार क्विंटल सरसों खरीदी गई थी। ढिग़ावा मंडी से एक लाख 38 हजार क्विंटल सरसों खरीदी गई है। जबकि पिछले वर्ष केवल 34 हजार क्विंटल सरसों ही समर्थन मूल्य पर खरीदी गई थी। इसी तरह से बहल मंडी में इस बार सबसे अधिक दो लाख 63 हजार क्विंटल सरसों खरीदी गई। जो पिछले वर्ष से लगभग एक लाख क्विंटल अधिक है। इसी प्रकार लोहारू व तोशाम में भी पिछले वर्ष से ज्यादा सरसों समर्थन मूल्य पर खरीदी गई है।

जानिए... किस क्षेत्र के किसान सरसों बिक्री से रहे वंचित



भारतीय किसान संघ ने की सरसों खरीदने की मांग

तोशाम|भारतीय किसान संघ जिला कार्यकारिणी मंत्री महिपाल बड़दू की अध्यक्षता में शुक्रवार को तोशाम मंडी में हुई बैठक में सरसों की खरीद रोके जाने पर विचार किया गया। बैठक में हैफेड़, मार्केट कमेटी अधिकारियों पर टोकन व शेड्यूल जारी करने में भेदभाव के आरोप लगाए।

सरसों टोकन घोटाले की जांच को लेकर धरना जारी

X
Bhiwani News - haryana news the registration of the farmers of loharu dhigawa did not happen due to the procurement of the government
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना