पूर्णरूप से परमात्मा के प्रति समर्पित होना चाहिए: आचार्य

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:31 AM IST

Bhiwani News - सांस्कृतिक मंच की ओर से कीर्ति नगर स्थित सांस्कृतिक सदन में भागवत कथा के चौथे दिन का शुभारंभ सुरेश गौतम,...

Bhiwani News - haryana news to be completely devoted to the divine acharya
सांस्कृतिक मंच की ओर से कीर्ति नगर स्थित सांस्कृतिक सदन में भागवत कथा के चौथे दिन का शुभारंभ सुरेश गौतम, प्राध्यापक राजीव शर्मा, उदय सिंह तंवर एवं मंच की अध्यक्ष अनीता नाथ ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। पंडित धीरज शास्त्री मूल कथा का शुद्धतर व मूल पाठ कर रहे हैं।

कथावाचक सुरेश कौशिक ने व्यासपीठ से देवराज इन्द्र की कथा के माध्यम से बताया कि राजा बलि ने स्वर्ग पर स्थायी शासन करने के लिए 100 अश्वमेघ यज्ञ करने का निर्णय लिया। 100वें यज्ञ में भगवान विष्णु वामन अवतार में आकर राजा बलि के अहंकार को नष्ट करते हुए उन्हें पाताल लोक भेज दिया। वामनावतार के माध्यम से उन्होंने बताया कि हमें पूर्णरूप से परमात्मा के प्रति समर्पित होना चाहिए। इसके बाद उन्होंने मत्स्यावतार की कथा सुनाते हुए कहा कि भगवान जल-प्रलय में भी सृष्टि के बीजों की रक्षा कर सकते हैं तो भक्त की नैया भवसागर से पार करने में समर्थ है। इसलिए अपनी जीवन नैया प्रभु के सहारे छोड़ देनी चाहिए। आचार्य ने रामकथा एवं देवगुरु बृहस्पति पुत्र कच एवं दैत्य गुरु शुक्राचार्य की पुत्री देवयानी की कथा को विस्तार से बताया। उन्होंने भगवान कृष्ण के जन्म व कंस द्वारा योग माया का प्रकरण सुनाया।

भिवानी। कीर्ति नगर स्थित सांस्कृतिक सदन में भागवत कथा करते आचार्य सुरेश कौशिक।

X
Bhiwani News - haryana news to be completely devoted to the divine acharya
COMMENT