Hindi News »Haryana »Bhiwani» सात विश्वविद्यालयों के 25 पाठ्यक्रमों में दाखिले करेगा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय

सात विश्वविद्यालयों के 25 पाठ्यक्रमों में दाखिले करेगा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी सत्र 2018-19 में स्नातकोत्तर स्तर पर प्रदेश के सात विश्वविद्यालयों के 25 पाठ्यक्रमों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:15 AM IST

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी सत्र 2018-19 में स्नातकोत्तर स्तर पर प्रदेश के सात विश्वविद्यालयों के 25 पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा का आयोजन करेगा। प्रदेशभर के विद्यार्थी नए सत्र में दाखिले के लिए मई के तीसरे सप्ताह से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस संबंध में मंगलवार को विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. प्रवीण सैनी ने अधिसूचना जारी की।

डॉ. सैनी ने बताया कि आगामी सत्र में केयू एमकॉम, एमए अर्थशास्त्र, एमए बिजनेस अर्थशास्त्र, एमबीए दो वर्षीय बजटिड, एमबीए दो वर्षीय एसएफएस, एमबीए जनरल, एमबीए ऑनर्स, एमबीए बिजनेस इकोनॉमिक्स, एमए पत्रकारिता एवं जनसंचार, एमएससी जनसंचार, एलएलएम, एमए राजनीति शास्त्र, एमए लोक प्रशासन, एमए अंग्रेजी, एमए हिंदी, एमए इतिहास, एमए भूगोल, एमएससी भूगोल, एमपीएड, एमपीईएस, एमए मनोविज्ञान, एमएससी मनोविज्ञान, एमए अप्लाइड मनोविज्ञान, एमए समाजशास्त्र एंड मास्टर ऑफ सोशल वर्क पाठ्यक्रमों के लिए ऑनलाइन दाखिले करेगा। आवेदन करने के लिए विद्यार्थी केयू की वेबसाइट पर जाकर लॉग इन कर सकते हैं। केयू प्रदेश के सात विश्वविद्यालयों केयू, महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक, भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय खानपुर कलां, चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय भिवानी, आईजी विश्वविद्यालय मीरपुर, सीडीएलयू सिरसा, चौधरी रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी जींद विश्वविद्यालयों के लिए दाखिले इस प्रवेश परीक्षा के आधार पर होंगे। डॉ. प्रवीण सैनी ने बताया कि दाखिला शेड्यूल से लेकर विश्वविद्यालयों के बारे में पूरी जानकारी के लिए एक ही कॉमन प्रॉस्पेक्ट्स तैयार किया जाएगा। इस प्रॉस्पेक्ट्स को सभी विश्वविद्यालयों की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा, ताकि विद्यार्थियों को नए सत्र में प्रवेश के लिए सभी जानकारी मुहैया कराई जा सकें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhiwani

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×