• Home
  • Haryana News
  • Bhiwani
  • रेलवे की भूमि पर लगाए जाएंगे पांच करोड़ पौधे
--Advertisement--

रेलवे की भूमि पर लगाए जाएंगे पांच करोड़ पौधे

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा रेलवे की भूमि पर पांच करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। रेलवे भूमि पर पौधरोपण करने हेतु...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:15 AM IST
भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा

रेलवे की भूमि पर पांच करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। रेलवे भूमि पर पौधरोपण करने हेतु केंद्रीय रेल मंत्रालय, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय तथा हरियाणा सरकार के बीच एक समझौता भी हुआ। समझौते के तहत शुरूआती दौर में सोनीपत-जींद, रोहतक-रेवाड़ी रेलवे लाइनों के साथ-साथ लाखों पौधे लगाए जाएंगे। दूसरी ओर वन मंत्रालय ने लोगों का आहवान किया है कि ग्रीष्म ऋतु के चलते वनों में लगने वाली संभावित आग की घटनाएं हो सकती हैं। हम सभी पूरी सावधानी बरतें, क्योंकि वनों की आग एक ओर जहां अमूल्य वन संपदा को नुकसान पहुंचाती है वहीं वन्य प्राणियों में भी असंतोष उत्पन्न करती है। जंगलों में लगी आग एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना होती है ऐसी घटनाओं से केवल सावधानी से ही बचा जा सकता है। ग्लोबल वार्मिंग व जलवायु परिवर्तन के चलते पर्यावरण संतुलन बनाए रखने की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। हरियाणा में शिवालिक व अरावली पर्वतीय श्रृंखला में पंचकूला जिले के कालका, पिंजौर, मोरनी व यमुनानगर जिले के कलेसर तथा फरीदाबाद, गुरुवार, महेंद्रगढ़, चरखीदादरी व भिवानी जिले के वन क्षेत्र के अधीन पड़ते है वहां पर गर्मी के मौसम में वन में आग लगने की संभावना अधिक होती है।

वन संपदा को बचाना व बढ़ाना जरूरी हो गया है। सरकारी प्रयासों के साथ-साथ गैर-सरकारी संगठनों व औद्योगिक घरानों के सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत हर वर्ष पूरे प्रदेश में वन-महोत्सव का आयोजन किया जाता है। हरियाणा में ‘हर घर हरियाली-हरियाणा की खुशहाली’ नामक एक अनूठी योजना आरंभ की गई है।

वन विभाग ने प्रदेश में ऐसे अनेक स्थलों की पहचान की है जहां पौधे लगाकर वन क्षेत्र व वृक्षों की संख्या बढ़ाई जा रही है। त्वरित शहरीकरण व सड़कों को चौड़ा करने तथा रेलवे लाइनों का विस्तार करने के कारण वन क्षेत्र में कमी आई है। विकास कार्यों के लिए पेड़ों को केवल तभी काटा जाएगा जब बहुत जरूरी होगा।

शुरूआती दौर में सोनीपत-जींद, रोहतक-रेवाड़ी रेलवे लाइनों के साथ-साथ लाखों पौधे लगाए जाएंगे