--Advertisement--

हम अध्यापक हैं चोर नहीं: परमजीत

चेयरमैन साहब सीसीटीवी कैमरे लगवाने हैं तो बोर्ड परीक्षा केंद्र में लगवाओ। हम चोर नहीं अध्यापक हैं। आए दिन नए...

Danik Bhaskar | Mar 20, 2018, 02:00 AM IST
चेयरमैन साहब सीसीटीवी कैमरे लगवाने हैं तो बोर्ड परीक्षा केंद्र में लगवाओ। हम चोर नहीं अध्यापक हैं। आए दिन नए फरमान जारी करना भी बंद करो। नहीं तो प्राध्यापकों का विरोध सहन करने के लिए तैयार रहो। बोर्ड मार्किंग के विरोध में हसला के जिला प्रधान परमजीत सिंह संधू ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि बोर्ड की कारगुजारियों के चलते बोर्ड की बारहवीं कक्षा की मार्किंग का विरोध करने का निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि बोर्ड प्राध्यापकों पर यकीन नहीं कर रहा है। जिसके चलते उनपर सीसीटीवी कैमरे की नजर व बॉयोमीट्रिक मशीन में हाजिरी लगाने जैसे फरमान थोपे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बोर्ड ड्यूटियां लगाने में सीनियर जूनियर को कोई ख्याल नहीं रखा गया है। जूनियर्स को सुपरिटेंडेंट लगाया गया है। जबकि सीनियर्स को सुपरवाइजर की ड्यूटी पर लगाया गया है।

उनके रोष का यह भी कारण बताया गया कि महिला शिक्षकों को बोर्ड ड्यूटी पर अपने स्टेशन से 50 से 60 किलोमीटर दूर लगाया गया। जिस कारण उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बोर्ड चेयरमैन पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि जब तक बोर्ड हसला से किए वायदे पूरे नहीं करता मार्किंग शुरू नहीं की जाएगी। सीसीटीवी कैमरे लगाकर बोर्ड शिक्षकों में अविश्वास की भावना को प्रकट कर रहा है। मौके पर पूर्व प्रधान वेद प्रकाश, शमशेर सिंह, हरपाल राणा, ब्लॉक प्रधान जसबीर कौर, शशीकांत चौधरी, रामर| ग्रेवाल, दुष्यंत चहल, सविंद्र सिंह, अश्विनी वालिया, सुनीता रानी, अलका शर्मा, सुनीता धीमान, सविता चहल समेत अनेक प्राध्यापक उपस्थित रहे।

यमुनानगर | राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में सीनियर सेकेंडरी की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन का बहिष्कार किया।