Hindi News »Haryana »Bilaspur» नवरात्र में ही कंजक पूजन से नहीं होगा कल्याण, नारी का सदैव सत्कार करो: भारती

नवरात्र में ही कंजक पूजन से नहीं होगा कल्याण, नारी का सदैव सत्कार करो: भारती

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से कस्बे में नवरात्रा की पूर्व संध्या पर धार्मिक आयोजन किया गया। जिसमें देवी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 19, 2018, 02:05 AM IST

नवरात्र में ही कंजक पूजन से नहीं होगा कल्याण, नारी का सदैव सत्कार करो: भारती
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से कस्बे में नवरात्रा की पूर्व संध्या पर धार्मिक आयोजन किया गया। जिसमें देवी के विभिन्न अवतारों का वर्णन किया गया। साध्वी मंगलावती भारती ने समाज में फैली कन्या भ्रूण हत्या कुरीति पर जमकर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि लक्ष्मी को धन, दुर्गा को शक्ति व सरस्वती को विद्या का प्रतीक माना जाता है।

धन, शक्ति व विद्या तीनों ही बेटी में समाहित हैं। फिर भी लोग अज्ञानतावश कन्या भ्रूण हत्या जैसा ककृत्य करते हैं। उन्होंने समाज से पूछा कि क्या हमें बेटी केवल कंजक पूजन के लिए ही चाहिए। लेकिन नारी का अपमान करने वालों की पूजा कभी स्वीकार नहीं होती।

भारती ने कहा कि नारी निंदनीय नहीं वंदनीय है। उसका तिरस्कार नहीं सत्कार करो। उन्होंने कहा कि नारी अबला नही। शास्त्र विदित है कि नारी ने दुर्गा का स्वरूप धारण कर बड़े-बड़े राक्षसों का धराशायी कर दिया। इसलिए जो आतिथ्य कन्या को कंजक रूप में दिया जाता है वहीं आदर व सत्कार नारी को जीवन पर्यंत मिलना है। तभी मां दुर्गा प्रसन्न होकर हमारी पूजा का फल देगी। साध्वी शीतल भारती, चंद्रप्रभा भारती व नभप्रीत भारती ने संगीतमयी धुनें सुना कर सबका मंत्रमुग्ध कर दिया।

बिलासपुर | दिव्या ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा भगवती की चौकी में भजन करतीं साध्वी मंगलावती भारती व उपस्थित श्रद्धालु।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नवरात्र में ही कंजक पूजन से नहीं होगा कल्याण, नारी का सदैव सत्कार करो: भारती
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×