Hindi News »Haryana »Bilaspur» हाथ से लिखी पर्ची लाकर कर्मियों की आंखों में धूल नहीं झोंक सकेंगे ओवरलोड वाहन चालक

हाथ से लिखी पर्ची लाकर कर्मियों की आंखों में धूल नहीं झोंक सकेंगे ओवरलोड वाहन चालक

ओवरलोडिंग के खेल को बंद करने के लिए प्रशासन ने पूरी तरह से तैयारी कर ली है। अब खनन जोन से निकलने वाले वाहनों के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 15, 2018, 02:05 AM IST

ओवरलोडिंग के खेल को बंद करने के लिए प्रशासन ने पूरी तरह से तैयारी कर ली है। अब खनन जोन से निकलने वाले वाहनों के रास्ते में वेव ब्रिज (वजन तोलने के लिए कांटा) लगाए जाएंगे। जिससे वाहनों में भरी सामग्री की मात्रा का सही वजन पता चल सके। यदि वह ओवरलोड होगा, तो तुरंत टीम ऐसे वाहनों का चालान करेगी। यह सब इसलिए किया जा रहा है कि हाथ से लिखी पर्ची लाकर टीम की आंखों में वाहन चालक धूल झोंक रहे हैं।

दरअसल, ओवरलोडिंग को लेकर मचे शोर के बाद जिला प्रशासन ने 15 जगहों पर नाके लगाए हैं। जिन पर विभिन्न विभागों के कर्मी ड्यूटी दे रहे हैं। इन कर्मियों के सामने दिक्कत यह आ रही है कि खनन जोन से निकलने वाले वाहन हाथ से लिखी पर्ची लेकर आ रहे हैं। इस पर्ची में वाहन में कम वजन लिखा होता है। ऐसे में नाकों पर तैनात कर्मी भी परेशानी में हैं कि ओवरलोड का पैमाना किस प्रकार से तय किया जाए। यही दिक्कत अधिकारियों के सामने रखी गई, तो इसकी कवायद शुरू की गई।

हर रोड पर वेव ब्रिज लगेंगे : अब विभाग ने हाथ से लिखी पर्चियां लाने वाले ओवरलोड वाहनों का भी इलाज करने की कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत वेव ब्रिज जिले की चारों दिशाओं में लगाए जाएंगे। यदि किसी वाहन पर ओवरलोड माल होने का शक है, तो तुरंत उसका वजन कराया जाएगा। रादौर रोड, बिलासपुर रोड, जठलाना रोड, गुमथला राव नाके के पास, छछरौली रोड पर यह वेव ब्रिज लगाए जाएंगे।

यमुनानगर|नाके के बावजूद भाजपा के जिला अध्यक्ष के गांव में बिना रोकटोक के चल रहे ओवरलोड वाहन।

रात के समय ही निकलते हैं वाहन

ओवरलोड वाहन रात के समय ही निकलते हैं। ऐसे में रात को कांटे भी बंद हो जाते हैं। खनन जोन में कोई कांटा भी नहीं है। हाथ से लिखी पर्ची दी जाती है। जिससे सही वजन का पता नहीं लग पाता। नाकों पर तैनात कर्मियों का कहना है कि जानबूझकर हाथ से लिखी पर्चियां लाई जा रही है।

पर्ची लेकर आने वाले वाहनों का मामला संज्ञान में है। यदि किसी वाहन चालक की पर्ची में लिखा वजन मैच नहीं होता है, तो उस पर एफआईआर कराई जाएगी। साथ ही इसके लिए आठ वेव ब्रिज की मंजूरी सरकार से मिल गई है। इससे जिस भी वाहन पर शक होगा, उसका तुरंत वजन कराया जाएगा। केके भादू, एडीसी, यमुनानगर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: haath se likhi parchi laakar karmiyon ki aankhon mein dhul nahi jhonk sakenge ovrlod vaahn chaalk
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×