• Hindi News
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • बिना फीस वसूले मुखिया को देना होगा स्कूल छोड़ने का सर्टिफिकेट
--Advertisement--

बिना फीस वसूले मुखिया को देना होगा स्कूल छोड़ने का सर्टिफिकेट

शिक्षा निदेशालय ने दाखिला के नियमों में परिवर्तन किया है। अब कोई भी स्कूल मुखिया पिछली कक्षा में सफल या असफल रहे...

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 02:15 AM IST
शिक्षा निदेशालय ने दाखिला के नियमों में परिवर्तन किया है। अब कोई भी स्कूल मुखिया पिछली कक्षा में सफल या असफल रहे किसी विद्यार्थी को मर्जी से अगली या उसी कक्षा में दाखिल नहीं कर सकेगा। इस तरह का हर दाखिला प्रोविजनल माना जाएगा। विद्यार्थी या अभिभावक के आवेदन करने पर ही उस विद्यार्थी का दाखिला मान्य होगा। स्कूल ऐसे विद्यार्थियों से कोई फीस भी नहीं वसूल सकेगा।

शिक्षा निदेशालय ने स्कूलों में दाखिला के पुराने नियमों में बदलाव करते हुए निर्देश दिए है कि यदि बच्चा स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट या टीसी के लिए अप्लाई करता है तो स्कूल संचालक उससे कोई भी फीस नहीं ले सकेगा। अभी तक यह होता रहा है कि परीक्षा परिणाम घोषित होते ही फेल हुए स्टूडेंट्स को उसी क्लास में दाखिल माना जाता था। जबकि पास होने वाले स्टूडेंट्स स्वत: नई क्लास में दाखिल माना जाता है। विद्यालय शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी व खंड मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर किया है।

पत्र में कहा गया है कि शिक्षा एक लाभप्रद व्यवसाय के बदले सामाजिक कल्याणकारी गतिविधि है। यह भी कहा गया है कि किसी भी विद्यार्थी पर वित्तीय दायित्व नहीं डाला जाए जब तक वह उस कक्षा विशेष या विद्यालय में दाखिला नहीं लेता। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी अभिभावक या छात्र को स्कूल छोड़ते समय किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। चाहे विद्यार्थी किसी निजी स्कूल में या सरकारी स्कूल में दाखिला लेना चाहता हो। साथ में यह भी सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी स्टूडेंट्स से एडवांस में ली गई पांच सौ रुपए से अधिक की राशि वापस लौटाई जाए। यहां तक कि किसी भी स्टूडेंट्स से एडवांस में ली गई त्रैमासिक या अर्धवार्षिक फीस भी वापस लौटानी होगी। निदेशालय ने यह भी स्पष्ट किया है कि स्टूडेंट्स से एडवांस में फीस लेेने का कोई प्रावधान नहीं है।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..