बिलासपुर

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • फसल अवशेष जलाने की बजाय मिट्टी में ही मिलाएं : कांबोज
--Advertisement--

फसल अवशेष जलाने की बजाय मिट्टी में ही मिलाएं : कांबोज

बिलासपुर | गन्ना फसल गोष्ठी में उपस्थित क्षेत्र के किसान। भास्कर न्यूज | बिलासपुर अनाजमंडी में गन्ना फसल...

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 02:20 AM IST
फसल अवशेष जलाने की बजाय मिट्टी में ही मिलाएं : कांबोज
बिलासपुर | गन्ना फसल गोष्ठी में उपस्थित क्षेत्र के किसान।

भास्कर न्यूज | बिलासपुर

अनाजमंडी में गन्ना फसल विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान फसली उपकरणें की प्रदर्शनी भी लगाई गई। गोष्ठी में आसपास के सैंकड़ो किसानों ने भाग लिया। आयोजकों की ओर से किसानों को गन्ने की नवीनतम किस्मों व पैदावार बढ़ाने संबंधी जानकारी दी गई। दामला कृषि विज्ञान केंद्र के संयोजक डॉक्टर बीआर कांबोज ने गन्ना उत्पादकों से जैविक खेती अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं को बर्मी कांपोस्ट व जैविक खाद बनाने के काम में लगाकर आमदन बढ़ाई जा सकती है। उन्होंने किसानों को गन्ने की कटाई व बुआई आधुनिक मशीनों से करने की सलाह दी। फसली अवशेष को जलाने की बजाय खेत में ही मिलाने की सलाह दी। पौध रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रणधीर सिंह टाया ने कहा कि बीज बोने से पहले उसका उपचार करवा लें। जिला विस्तार विशेषज्ञ डॉक्टर एनके गोयल ने बताया कि सूक्ष्म पोषक तत्वों जिंक, लोहा व मैगनीज की कमी को पूरा करने के लिए नियमित मिट्टी की जांच करवाएं। विशेषज्ञ विनय मणी ने इफको एमसी क्रॉप की जानकारी देते हुए बताया कि गन्ने को दीमक, सफेद गीडर व कनसुआ से बचाने के लिए कीटनाशकों की जानकारी दी। प्रदर्शनी में कीटनाशकों व कृषि उपकरणों की जानकारी दी गई। उपकृषि निदेशक यमुनानगर डॉक्टर सुरेंद्र यादव ने किसानों को पारंपरिक खेती से हटकर सब्जी, फलोरिंग, बागवानी, मशरूम व डेयरी फार्मिंग से जुड़ने की सलाह दी।

X
फसल अवशेष जलाने की बजाय मिट्टी में ही मिलाएं : कांबोज
Click to listen..