• Hindi News
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • सिलेक्ट होने के बाद भी ज्वाइन करने वाले डॉक्टर्स को एक और मौका, अब 28 फरवरी तक कर सकते हैं ज्वाइन
--Advertisement--

सिलेक्ट होने के बाद भी ज्वाइन करने वाले डॉक्टर्स को एक और मौका, अब 28 फरवरी तक कर सकते हैं ज्वाइन

सरकारीसेवामें सिलेक्शन होने के बाद भी ज्वाइन करने वाले डॉक्टर्स को सरकार ने एक और मौका दिया है। ये डॉक्टर 28 फरवरी...

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 12:35 PM IST
सरकारीसेवामें सिलेक्शन होने के बाद भी ज्वाइन करने वाले डॉक्टर्स को सरकार ने एक और मौका दिया है। ये डॉक्टर 28 फरवरी तक नौकरी ज्वाइन कर सकते हैं। अगर शेष सभी डॉक्टर ज्वाइन करते हैं तो जिले में स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर होंगी। यमुनानगर जिले के लिए 30 डॉक्टर्स की सिलेक्शन हुई थी। इसमें से 15 ने ही अभी तक ज्वाइन किया है। अभी तक अलाट किए गए स्टेशन पर ज्वाइन करने वाले डॉक्टर्स की ज्वाइनिंग को लेकर हेल्थ डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अमित झा की ओर से इस संबंध में तीन जनवरी को ही सभी सीएमओ को लेटर जारी किया गया है। इसमें उन्होंने कहा कि जिन डॉक्टर्स की सिलेक्शन हुई है और उन्होंने तय समय पांच दिसंबर 2017 तक नौकरी ज्वाइन नहीं की है तो वे 28 फरवरी शाम पांच बजे तक नौकरी ज्वाइन कर सकते हैं। अगर वे इस तय समय सीमा में नौकरी ज्वाइन नहीं करते तो उन्हें दिया गया नियुक्त पत्र रद्द कर दिया जाएगा। 30में से 15 स्पेशलिस्ट हैं, अभी पांच ही मिले हैं | यमुनानगरके लिए जिन 30 डॉक्टर्स की सिलेक्शन हुई है उनमें 15 स्पेशलिस्ट हैं। वहीं जिन 15 डॉक्टर्स ने अभी तक ज्वाइन किया है उसमें से पांच स्पेशलिस्ट भी शामिल हैं। अगर बचे डॉक्टर्स भी ज्वाइन करते हैं तो यमुनानगर के सिविल अस्पताल में ज्यादातर बीमारियोंं का इलाज संभव हो पाएगा। डॉक्टर्स की कमी काफी हद तक दूर होगी। अभी अकेले सिविल अस्पताल में 50 प्रतिशत डॉक्टर्स के पद खाली पड़े हैं।

इनकी हुई थी सिलेक्शन

यमुनानगरजिले में दो हड्डी रोग विशेषज्ञ, दो महिला रोग विशेषज्ञ, तीन आई स्पेशलिस्ट, एक-एक रेडियोलोजिस्ट, फिजिशियन, एनेस्थीसिया, एमडी पैथोलॉजी, माइक्रोबॉयोलॉजी, एमडी फार्मा का चयन हुआ था। पीएचसी साढौरा, छछरौली और रादौर में तीन-तीन डॉक्टर्स का चयन हुआ था। बुडिय़ा के सरकारी अस्पताल में एक, बिलासपुर में एक, अंटावा में एक, कोट मुस्तरका में एक, अलाहर में एक डॉक्टर समेत अन्य अस्पताल में कई डॉक्टर्स की सिलेक्शन हुई थी। इनमें से 15 ने ही ज्वाइन किया है।

अक्टूबर में हुई थी 527 डॉक्टर्स की भर्ती

सरकारने अक्टूबर माह में 527 डॉक्टर्स की भर्ती की थी। 60 दिन का समय ज्वाइनिंग का रखा गया था। इन 60 दिन में करीब 220 डॉक्टर्स ने ही ज्वाइन किया है। इनमें से काफी डॉक्टर छुट्टी पर चले गए। लंबे समय बाद सरकारी डॉक्टर्स की यह भर्ती हुई थी। सरकार को उम्मीद थी कि सभी डॉक्टर्स ज्वाइन कर लेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। सभी डॉक्टर्स के ज्वाइन करने की कई वजह सामने आईं थीं। एक तो वेतन कम और दूसरा वर्क लोड ज्यादा इसकी वजह मानी जा रही थी। क्योंकि दूसरे राज्यों में और प्राइवेट अस्पतालों में ज्यादा वेतन डॉक्टर को मिलता है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..