• Hindi News
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • दास्तां मेरे प्यार की बस एक हस्ती के गिर्द घूमती है, प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे यह मेरी मां के कदम चूमती है...
--Advertisement--

दास्तां मेरे प्यार की बस एक हस्ती के गिर्द घूमती है, प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे यह मेरी मां के कदम चूमती है...

रिश्ते तो बहुत है पर मां सिर्फ एक है। मां और बच्चे के रिश्ते को और अधिक महत्वशील बनाने के लिए एमआर इंटरनेशनल स्कूल...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 02:05 AM IST
दास्तां मेरे प्यार की बस एक हस्ती के गिर्द घूमती है, प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे यह मेरी मां के कदम चूमती है...
रिश्ते तो बहुत है पर मां सिर्फ एक है। मां और बच्चे के रिश्ते को और अधिक महत्वशील बनाने के लिए एमआर इंटरनेशनल स्कूल में मदर्स डे मनाया गया। माताओं के स्वागत के लिए शिक्षक व विद्यार्थी उमड़ पड़े। बच्चों ने मां के महत्व को दर्शाते ग्रीटिंग कार्ड बनाकर उन्हें प्रस्तुत किए। मौके पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। प्रधानाचार्य डॉक्टर नीलम जैन ने अध्यक्षता की।

मुख्यातिथि समाज सेविका सुनीता रानी ने कहा कि मां कि ममता न तो जात को जानती है और न अमीर-गरीब के अंतर को पहचानती है। मां भगवान का प्रतिबिंब होती है। मां के सामान समाज में अन्य कोई भी दूसरा रिश्ता नहीं। माताओं के लिए भी विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं रही गई जिसमे बैलून फूला कर अपने बच्चे का नाम लिखना, बच्चे का माँ को पहचानना, सेफ्टी पिन सी चैन बनाना मुख्य रही। डॉक्टर नीलम जैन ने मां के महत्व का वर्णन करते हुए कहा दास्तां मेरे लाड प्यार कि बस एक हस्ती के गिर्द घूमती है, प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे यह मेरी मां के कदम चूमती है।

प्रतियोगिता के परिणाम: बैलूंस ब्लो में गीता रानी रामपुर जट्टांन प्रथम, डोली चैन अाॅफ सेफ्टी पिंस प्रतियोगिता में अव्वल रही। मनिंदर फतेहगढ़ व मंजीत रानीपुर द्वितीय व तृतीय रही। वाइट थिंग्स ऑफ़ किचन में मीनू व ऋतु अव्वल रही। मदर्स स्क्रीन अवार्ड अमनदीप कौर, बिलासपुर ने हासिल किया। विजेता प्रतिभागियों को मुख्यातिथि ने पुरस्कार से सम्मानित किया। मौके पर अजमेर सिंह, चौधरी, नरेश पाल व चौधरी राजेश कुमार, इक़बाल कौर, कुलदीप शर्मा, कॉर्डिनेटर संदीप सिंगला, सीमा मदान, तरुण दत्ता व रीना पंजेटा उपस्थित रही।

बिलाससपुर | एमआर इंटरनेशनल स्कूल में मदर्स डे पर प्रतियोगिता में भाग लेतीं माएं।

X
दास्तां मेरे प्यार की बस एक हस्ती के गिर्द घूमती है, प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे यह मेरी मां के कदम चूमती है...
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..