• Home
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • हिंदी-अंग्रेजी के साथ पंजाबी का ज्ञान भी जरूरी: कायमपुर
--Advertisement--

हिंदी-अंग्रेजी के साथ पंजाबी का ज्ञान भी जरूरी: कायमपुर

बिलासपुर| गुरमत कैंप के समापन पर पुरस्कार वितरति करते जत्थेदार बलदेव सिंह। भास्कर न्यूज | बिलासपुर शिरोमणि...

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 02:10 AM IST
बिलासपुर| गुरमत कैंप के समापन पर पुरस्कार वितरति करते जत्थेदार बलदेव सिंह।

भास्कर न्यूज | बिलासपुर

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री अमृतसर के पूर्व वरिष्ठ उपप्रधान जत्थेदार बलदेव सिंह कायमपुर ने कहा कि बच्चों को पंजाबी का ज्ञान करवाना जरूरी है।

पंजाबी भाषा का ज्ञान न होने से बच्चों को गुरबाणी, गुरु व सिख कौम के इतिहास की जानकारी नहीं मिल सकती। वे गुरुद्वारा दसवीं पातशाही श्री गुरु गोबिंद सिंह में चल रहे प्रशिक्षण शिविर के समापन पर बच्चों को प्रोत्साहित कर रहे थे। मंच का संचालन प्रचारक सतनाम सिंह ने किया। जत्थेदार बलदेव सिंह ने कहा कि पंजाबी भाषा सिख कौम का अहम हिस्सा है। बच्चों को अंतरराष्ट्रीय भाषा अंग्रेजी और राष्ट्रीय भाषा हिंदी के अलावा अपनी मां बोली पंजाबी भाषा गुरमुखी का ज्ञान होना भी जरुरी है। प्रचारक सतनाम सिंह ने बच्चों को गुरबाणी नितनेम से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। जत्थेदार बलदेव सिंह कैमपुर ने प्रतिभागी बच्चों को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया। मौके पर सिख मिशन हरियाणा के सहायक इंचार्ज साहब सिंह, सुरेंद्र सिंह, मास्टर हरपाल सिंह बैंस, गुरूद्वारा प्रधान तेजा सिंह, मनजीत सिंह, जसपाल सिंह, इंद्रपाल सिंह समेत अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।