Hindi News »Haryana »Bilaspur» पूर्व सरपंच, जमानती व संजीव के परिजनों को आरोपी बनाने की तैयारी, सभी अंडरग्राउंड

पूर्व सरपंच, जमानती व संजीव के परिजनों को आरोपी बनाने की तैयारी, सभी अंडरग्राउंड

बिलासपुर थाना एसएचओ गुरमेल सिंह ने बताया कि चगनौली के पूर्व सरपंच बलदेव सिंह ने झूठा शपथ पत्र दिया कि संजीव की मां...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 15, 2018, 02:10 AM IST

बिलासपुर थाना एसएचओ गुरमेल सिंह ने बताया कि चगनौली के पूर्व सरपंच बलदेव सिंह ने झूठा शपथ पत्र दिया कि संजीव की मां उसके यहां पर किराएदार है, जबकि ऐसा नहीं है। चगनौली के पते पर संजीव को पहली बार फरलो मिली थी। इससे पता चलता है कि यह संजीव के फरार होने की प्लानिंग थी। क्योंकि वह सहारनपुर का रहने वाला है। इसमें पुलिस को पूर्व सरपंच के शामिल होने का शक है। इसलिए पुलिस इस मामले में पूर्व सरपंच को गिरफ्तार करने का प्रयास का रही है। वहीं उसका बेटे से भी पूछताछ करनी है। मामले में संजीव के परिजन भी शामिल हो सकते हैं। क्योंकि फरलो के दौरान संजीव अपने घर पर ही रहा था। उनसे भी पूछताछ करनी है। अशोक और जसमेर ने संजीव की जमानत ली है। गलत आदमी की जमानत लेकर उन्होंने फरार कराने में सहायता की है। इन सब बातों को लेकर पुलिस इनसे पूछताछ करेगी। वहीं पुलिस इस मामले में जेल में बंद प|ी सोनिया से भी पूछताछ करेगी।

कई गैंग लीडरों से दोस्ती, उन्हीं में से किसी के ठिकानों पर होने का शक

पुलिस अधिकारियों के अनुसार संजीव 17 साल हरियाणा की कई जेलों में रहा। उसकी दोस्ती कई गैंग लीडरों से है। पुलिस को अब शक है कि संजीव जेल में बने किसी दोस्त के ठिकाने पर हो सकता है। माना यह भी जा रहा है कि संजीव नेपाल भाग गया हो। हालांकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि संजीव कहां पर है इसकी अभी कोई पुख्ता सूचना नहीं है। एसएचओ गुरमेल सिंह ने कहा कि पुलिस ने यूपी में संजीव के रिश्तेदारों के यहां पर छापेमारी की, लेकिन वहां पर संजीव नहीं मिला।

पुलिस छापामारी पर भी नहीं मिला संजीव

पुलिस अधिकारियों का दावा- चार टीमें लगी हैं

आठ हत्याओं को अंजाम देने वाले संजीव की तलाश में पुलिस की चार टीमें लगी हैं। इसमें सीआईए से लेकर थाना पुलिस शामिल है। चार दिन में पुलिस टीमों ने दर्जन भर जगह छापा मारी की, लेकिन संजीव का कुछ पता नहीं चला। डीएसपी बिलासपुर आशीष चौधरी का कहना है कि पुलिस की टीमें तलाश में है। उम्मीद है कि जल्द कामयाबी मिलेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×