Hindi News »Haryana »Bilaspur» दरियापुर में एक साथ निकली मां-बेटे की शवयात्रा

दरियापुर में एक साथ निकली मां-बेटे की शवयात्रा

दरियापुर गांव के जोगिंद्र सिंह के घर से गमगीन माहौल में शुक्रवार को एक साथ दो शवयात्राएं निकली। आगे बेटे का पीछे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 02, 2018, 02:15 AM IST

दरियापुर गांव के जोगिंद्र सिंह के घर से गमगीन माहौल में शुक्रवार को एक साथ दो शवयात्राएं निकली। आगे बेटे का पीछे मां का शव चार कंधों पर था। मां-बेटे की चिता एक साथ जलते देख सभी का कलेजा पसीज रहा था। पिता जोगिंद्र सिंह व दादा करनैल सिंह तो मानो सुध खो गए थे।

मां बेटे का शव करनाल से पोस्ट मार्टम के बाद शुक्रवार दोपहर ढाई बजे दरियापुर गांव पहुंचा। शवों को देखकर सभी परिजनों की चीख पुकार सुनकर हर कोई सन्न रह गया। शव वाहन से उतार कर मां बेटे दोनों को साथ-साथ लेटाया गया। बीच-बीच में से आवाजें आ रही थी हैप्पी उठ, रजवंत कौर उठ। शवों को देख कर पिता जोगिंद्र सिंह, बाबा करनैल सिंह का रो-रोकर बुरा हाल था। परिवार की इकलौती वारिश बहन बलविंद्र कौर कभी मां को गले लगाकर बेहोश हो जाती तो कभी भाई के शव को लिपट जाती। चचेरे भाई दविंद्र सिंह ने गुरविंद्र सिंह उर्फ हैप्पी व ममेरे भाई बब्बू ने रजवंत कौर को मुखाग्नि दी।

शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करने के लिए विधायक चौधरी बलवंत सिंह व अन्य समाज सेवी लोग पहुंचे। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को करनाल के पास कार हादसे में गांव के जोगिंद्र सिंह के बेटे गुरविंद्र सिंह उर्फ हैप्पी, प|ी रजवंत कौर, बेटी मनजिंद्र कौर, दामाद हरिंद्र व साली जसविंद्र कौर की मौत हो गई थी। वे कार से हंडेसरा गांव से करनाल जा रहे थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×