• Hindi News
  • Haryana News
  • Bilaspur
  • शुगर मिल हुआ बंद, अब क्रशर में 250 रुपए में डालना पड़ रहा बचा हुआ गन्ना, किसानों की पेमेंट भी फंसी, पड़ रही दोहरी मार
--Advertisement--

शुगर मिल हुआ बंद, अब क्रशर में 250 रुपए में डालना पड़ रहा बचा हुआ गन्ना, किसानों की पेमेंट भी फंसी, पड़ रही दोहरी मार

सरस्वती शुगर मिल रविवार की सुबह बंद हो गया। अब किसानों से कोई गन्ना नहीं खरीदा जाएगा। जिससे उन किसानों की चिंता बढ़...

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 04:10 AM IST
शुगर मिल हुआ बंद, अब क्रशर में 250 रुपए में डालना पड़ रहा बचा हुआ गन्ना, किसानों की पेमेंट भी फंसी, पड़ रही दोहरी मार
सरस्वती शुगर मिल रविवार की सुबह बंद हो गया। अब किसानों से कोई गन्ना नहीं खरीदा जाएगा। जिससे उन किसानों की चिंता बढ़ गई है, जिनके पास गन्ने की फसल खड़ी है। शुगर मिल ने पहले ही किसानों की पेमेंट रोक रखी है।

अब गन्ना भी खेतों में बचा रहने से दोहरी मार किसानों पर पड़ रही है। गन्ना क्रशर भी इस मौके का फायदा उठा रहे हैं। वह भी किसानों का गन्ना औने पौने दामों पर ले रहे हैं। मजबूरी में किसान इस गन्ने को क्रशर में डालने को मजबूर हैं। इस बार गन्ने की रिकॉर्ड पैदावार हुई है। करीब दो लाख क्विंटल गन्ने की पैदावार इस बार हुई। मिल भी इस साल 26 दिन अधिक तक चला। शुगर मिल ने डेढ़ लाख क्विंटल पेराई का लक्ष्य रखा था, लेकिन पैदावार को देखते हुए पेराई करीब 180 क्विंटल गन्ने की हुई। बावजूद इसके कुछ किसानों के खेतों में गन्ना खड़ा रह गया। किसान इसमें मिल प्रशासन की लापरवाही बता रहे हैं। किसानों का कहना है कि शुगर मिल को पहले ही पता था कि इस बार गन्ने की पैदावार अच्छी है। आरोप है कि लेकिन शुगर मिल ने समय पर पर्चियां नहीं दीं। जिसकी वजह से किसानों को दिक्कत झेलनी पड़ी। एक-एक सप्ताह बाद पर्ची मिली। जिसकी वजह से गन्ने की फसल की छिलाई नहीं हो सकी।

सरस्वती शुगर मिल बंद होने के कारण किसान के खेत में खड़ी गन्ने की फसल।





X
शुगर मिल हुआ बंद, अब क्रशर में 250 रुपए में डालना पड़ रहा बचा हुआ गन्ना, किसानों की पेमेंट भी फंसी, पड़ रही दोहरी मार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..