• Hindi News
  • Haryana
  • Cheeka
  • पहले दिन मंडी में नहीं आई गेहूं की एक भी ढेरी
--Advertisement--

पहले दिन मंडी में नहीं आई गेहूं की एक भी ढेरी

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:00 AM IST

Cheeka News - एशिया की प्रमुख अनाज मंडियों में शुमार चीका अनाज मंडी में गेहूं के सीजन के आज पहले दिन एक भी ढेरी नहीं पहुंची। मंडी...

पहले दिन मंडी में नहीं आई गेहूं की एक भी ढेरी
एशिया की प्रमुख अनाज मंडियों में शुमार चीका अनाज मंडी में गेहूं के सीजन के आज पहले दिन एक भी ढेरी नहीं पहुंची। मंडी में आज बेशक ढेरी एक भी न आई हो, लेकिन बारीक धान की आवक काफी मात्रा में देखने को मिली।

एक अप्रैल से गेहूं का सीजन शुरू हो जाता है और धान की कोई भी ढेरी दिखाई नहीं देती क्योंकि गेहूं की अधिक आवक होने के कारण मार्केट कमेटी प्रशासन भी धान की ढेरी को गिरवाने के लिए मना करता है। मार्केट कमेटी सचिव देवेंद्र मोर ने कहा कि सरकारी नियमानुसार 1 अप्रैल से गेहूं का सीजन आरंभ हो जाता है। 1 अप्रैल से सभी सरकारी खरीद एजेंसियां भी गेहूं खरीद के लिए मंडी में तैयार रहती हैं। सीजन का पहला दिन होने के चलते सरकारी खरीद एजेंसी पूरा दिन मंडी में चक्कर लगाती रही ताकि कोई गेहूं की ढेरी सरकारी रजिस्टर में दर्ज हो सके लेकिन कोई भी गेहूं की ढेरी न होने के कारण आज खरीद नहीं हो सकी।

दो पक्का आढ़ती होने का मिलेगा लाभ : अनाज मंडी चीका में पहली बार कच्चा आढ़तियों की सेवा के लिए दो पक्का आढ़ती मैदान में आए हैं। लगता है सीजन के दौरान आढ़तियों को अबकी बार ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं मिलेंगी। यदि आढ़तियों को सुविधाएं मिल जाती हैं तो इसका श्रेय मैदान में आने वाले नए ग्रुप को दिया जाएगा क्योंकि पुराना ग्रुप तो पहले भी आढ़तियों की सेवा करने में असफल रह चुका है।

गुहला चीका | अनाज मंडी में धान की ढेरी की तुलाई करते हुए मजदूर।

पाई, करोड़ा, सेरधा, जाखौली में भी नहीं आई

पाई | सरकार द्वारा किसानों की गेहूं की खरीद के पहले दिन पाई क्षेत्र की किसी भी अनाज मंडी में खरीद का कार्य शुरू नहीं हो सका। रविवार एक अप्रैल से सरकार द्वारा किसानों की गेहूं की फसल 1735 रुपए प्रति क्विंटल की दर पर खरीद शुरू की जानी थी, परन्तु पाई मार्केट कमेटी के अधीन पाई, करोड़ा, सरेधा, राजौंद, जाखौली तथा किठाना की किसी भी मंडी में किसानों की गेहूं की कोई भी ढेरी नहीं आई है।

X
पहले दिन मंडी में नहीं आई गेहूं की एक भी ढेरी
Astrology

Recommended

Click to listen..