दुलहेरा बदली

  • Home
  • Haryana News
  • Dulhera-badli
  • बादली में बीएससी मेडिकल का कोर्स बंद करने के आदेश पर भड़के ग्रामीण
--Advertisement--

बादली में बीएससी मेडिकल का कोर्स बंद करने के आदेश पर भड़के ग्रामीण

चौधरी धीरपाल राजकीय महाविद्यालय बादली में लगने वाली बीएससी मेडिकल साइंस की कक्षाएं छात्रों की कम संख्या बताकर...

Danik Bhaskar

May 13, 2018, 02:10 AM IST
चौधरी धीरपाल राजकीय महाविद्यालय बादली में लगने वाली बीएससी मेडिकल साइंस की कक्षाएं छात्रों की कम संख्या बताकर बंद कर दी गईं। ग्रामीण इस विषय में प्रिंसिपल से मिले और रोष जताया। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग की ओर से 20 से कम विद्यार्थी होने पर कॉलेजों में लागू बीएससी मेडिकल साइंस की कक्षाएं बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं। महाविद्यालय में 2015-16 के सेशन में मेडिकल साइंस पढ़ने वाले बच्चों की संख्या 29 थी। इसके अलावा 2016-17 के सेशन में यह संख्या प्रथम वर्ष के नए छात्रों की 12 रही। विभाग द्वारा 12 की संख्या को भी घटाकर अपने रिकाॅर्ड में 6 दर्शा कर मेडिकल साइंस की कक्षाएं बंद करने का काम किया गया। गांव का एक प्रतिनिधिमंडल चौधरी धीरपाल राजकीय महाविद्यालय में पहुंचा और इस विषय में प्राचार्य एसएन शर्मा से चर्चा की। समाजसेवी होशियार सिंह गुलिया दरियापुर व ब्लॉक बादली सरपंच एसोसिएशन के प्रधान अमित कुमार के नेतृत्व में बच्चों के भविष्य के बारे में प्राचार्य शर्मा से चर्चा की।

मंगलवार को चीफ सेक्रेट्री से मिलेंगे ग्रामीण: ग्रामीण होशियार सिंह गुलिया, श्री पंच, सुंदर, तेजपाल, शुभराम, बलबीर नंबरदार, धर्मबीर, प्रकाश के अलावा अन्य ग्रामीणों ने कहा कि विभाग की ओर से बीएससी मेडिकल साइंस की सीटें कम दिखाकर बादली महाविद्यालय की कक्षाओं को जान बूझकर बंद किया जा रहा है। विभाग द्वारा ऐसा करके बच्चों के भविषय के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। ग्रामीण किसी भी सूरत में ऐसा नहीं होने देंगे। ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को चीफ सेकेट्री से मुलाकात कर बच्चों के भविष्य को लेकर कक्षाओं को सुचारू रूप से चालू रखने की गुहार लगाएगा।

संख्या गलत होने का नहीं पता : शर्मा: प्राचार्य एसएन शर्मा का कहना है कि 2016-17 के सेशन में बच्चों की संख्या 12 थी। विभाग के रिकाॅर्ड में यह संख्या 12 की जगह 6 कैसे हुई। इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। फिलहाल ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला था। उनको समस्या के बारे में अवगत करवा दिया गया है।

Click to listen..