• Hindi News
  • Haryana News
  • Ellenabad
  • जिले के सभी गांव कोे जगमग करने के बाद अब शहरों को बिजली कट से दिलाई जाएगी निजात, 16 करोड़ भेजा प्रस्ता
--Advertisement--

जिले के सभी गांव कोे जगमग करने के बाद अब शहरों को बिजली कट से दिलाई जाएगी निजात, 16 करोड़ भेजा प्रस्ताव

जिले में जगमग योजना के तहत सभी गांव में 24 घंटे बिजली मुहैया करवाने के बाद बिजली निगम अब शहरों में लगने वाले अघोषित...

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 02:10 AM IST
जिले में जगमग योजना के तहत सभी गांव में 24 घंटे बिजली मुहैया करवाने के बाद बिजली निगम अब शहरों में लगने वाले अघोषित बिजली कटों से मुक्ति दिलाएगा। इसके लिए बिजली निगम ने 16 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार किया है। जिसे बिजली निगम के शीर्ष नेतृत्व को भेज दिया गया है। इसके लिए गुरुवार यानि आज होने वाली निगम के अधिकारियों की मीटिंग में इस प्रस्ताव के पारित होने की संभावना है। 16 करोड़ रुपये से सिरसा, डबवाली और ऐलनाबाद कस्बा की बिजली समस्याओं को सुधारा जाएगा। इसमें 10 करोड़ रुपये सिरसा में , साढ़े 4 करोड़ डबवाली और 1.5 करोड़ ऐलनाबाद कस्बे में खर्च करने का प्रपोजल तैयार किया गया है। इसके तहत शहरभर में बिछा बिजली के तारों का जंजाल साफ हो जाएगा। लाइन लॉस पर रोकथाम लग पाएगी। प्रपोजल के तहत सामान्य केबल बदलकर आर्म्ड केबल लगाई जाएगी।

जिससे पॉवर लीकेज की संभावना खत्म हो जाएगी। आर्म्ड केबल उपभोक्ता के मीटर तक जाएगी, ताकि कोई भी कुंडी लगाकर बिजली चोरी न कर सकें। आर्म्ड केबल की वजह से गलियों-कालोनियों में बिजली के खंभों पर तारों के जंजाल से मुक्ति मिल पाएगी। करंट से होने वाले हादसे और बिजली के तारों के आपस के टकराने से स्पार्किंग की संभावना भी खत्म हो जाएगी। स्पार्किंग के कारण बिजली गुल होने की समस्या का भी निदान हो पाएगा। ओवरलोड ट्रांसफार्मर बड़े किए जाएंगे। जिससे ब्रेकडाउन जैसी समस्या से शहरों को निजात मिल जाएगी और 24 घंटे बिजली सुचारू रूप से रहेगी।

सिरसा, डबवाली और ऐलनाबाद कस्बे में व्यवस्था सुधारने पर होगा काम

6 प्रतिशत के करीब लाइन लॉस हुआ कम

बिजली निगम की जगमग योजना के तहत सिरसा जिला ने लाइनलास रोकने की दिशा में बेहतर कार्य किया है। निगम अधिकारियों व कर्मचारियों की मेहनत का परिणाम सामने आया है। सिरसा जिला में बीते वर्ष में 20 करोड़ से अधिक का लाइन लॉस कम करने में सफलता हासिल की है। निगम का दिसंबर-2016 में लाइनलास 29.63 प्रतिशत था, जबकि दिसंबर-2017 में लाइनलास घटकर 24 प्रतिशत पर आ गया। लाइनलास कम होने से निगम को सीधे-सीधे 20 करोड़ का लाभ हुआ।

एक करोड़ बिजली यूनिट की हुई बचत

जगमग योजना के तहत बिजली सुधारीकरण में हुए कार्य के चलते ही सिरसा ने वर्ष 2016 के दौरान एक करोड़ से अधिक बिजली यूनिट बचाने का भी काम किया। निगम के अधीक्षण अभियंता पीके चौहान ने बताया कि निगम ने वर्ष 2016 में दिसंबर तक 72 करोड़ 57 लाख की यूनिट खरीदी थी। जबकि वर्ष 2017 में दिसंबर तक 71 करोड़ 50 लाख यूनिट खरीदी। उन्होंने बताया कि निगम द्वारा बगैर कट लगाए और उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति प्रदान करते हुए भी एक करोड़ यूनिट से अधिक की बचत की। इसके अलावा बिलिंग यूनिट में सीधे-सीधे 5 करोड़ यूनिट का इजाफा हुआ है। 2016 में निगम ने ट्यूबवेल कनेक्शनों को छोड़कर 51 करोड़ 7 लाख यूनिट की बिलिंग की थी।

अधिकारियों ने योजना को जिले में ऐसे किया कामयाब

निगम के एसई पीके चौहान ने बताया जिले में जगमग योजना को सिरे चढ़ाने के विशेष प्लानिंग की गई थी। उपभोक्ता से लेकर कर्मचारी व अधिकारियों ने इसमें सहयोग किया। इसी का परिणाम है कि आज हमारे जिले के सभी गांव में 24 घंटे बिजली सुविधा है। इसके लिए निगम ने स्पेशल बिजली चोरों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया । निगम ने दिन के समय औचक जांच के साथ-साथ रात्रि में भी औचक जांच का सिलसिला शुरू किया। निगम अधिकारियों ने बड़ी संख्या में बिजली चोरों को पकड़ा और उन पर जुर्माना ठोका। निगम के अभियान की वजह से बिजली चोरी भी रुकी साथ ही बिजली चोर भी अब चोरी से पीछे हटने लगे है। चौहान ने बताया कि बिजली चोरी रोकने की वजह से लाइनलास कम हो पाया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..