• Hindi News
  • Haryana News
  • Ellenabad
  • शिक्षित समाज से ही देश तरक्की करेगा : स्वामी सुमेधानंद
--Advertisement--

शिक्षित समाज से ही देश तरक्की करेगा : स्वामी सुमेधानंद

देशभर से सबसे कम संपत्ति वाले सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने कहा कि कालेधन के मुद्दे पर न तो मोदी सरकार पीछे...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 02:15 AM IST
शिक्षित समाज से ही देश तरक्की करेगा : स्वामी सुमेधानंद
देशभर से सबसे कम संपत्ति वाले सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने कहा कि कालेधन के मुद्दे पर न तो मोदी सरकार पीछे हटी है अाैर न ही बाबा रामदेव की ओर से इसकी पैरवी में कोई कमी है। बल्कि मोदी सरकार के दबाव में विश्व बैंक को सभी देशों की करंसी रखने को लेकर पॉलिसी बनानी पड़ी है। जिससे देश का पैसा स्विस बैंकों तो क्या किसी भी देश में सरकार की जानकारी के बिना नहीं जा रहा है। स्वामी सुमेधानंद शनिवार रात को डबवाली के गांव गोरीवाला में स्वामी विवेकानंद स्कूल के वार्षिकोत्सव में पहुंचे थे।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में समाज और स्कूलों में अनुशासनहीनता के मामले बढ़ते जा रहे हैं। जिससे समाज व शिक्षकों में चिंता का विषय बना हुआ है लेकिन वास्तव में गुरुजनों को अपने आचरण का ओज कायम रखना चाहिए ताकि बच्चे उनका अनुसरण करके आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि बच्चों पर माता पिता का प्रभाव ज्यादा है लेकिन परिजन केवल यह कहकर पीछे हट जाते हैं कि वे सबकुछ स्कूलों में सीखते हैं। ऐसा करके अभिभावक अपनी जिम्मेवारी से भाग रहे हैं। जिसका परिणाम समाज भोग रहा है।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार शिक्षा व स्वास्थ्य के लिए काम करते हुए रिकॉर्ड 500 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी दे चुकी है। जिनमें 30 हजार नए डॉक्टर तैयार होंगे। इसी प्रकार शिक्षा के क्षेत्र में काम करते हुए आगामी दशक में विश्व की टॉप 200 यूनिवर्सिटी में भारत की 10 यूनिवर्सिटी को लाने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं। इसी प्रकार गोसेवा के क्षेत्र में 8 सौ करोड़ के प्रावधान के साथ गोकुल योजना शुरू की है।

वहीं राज्य सरकारों की ओर से भी गौशालाओं के गोधन को प्रतिदिन चारा राशि भी दी जा रही है। राजस्थान सरकार ने बड़े गोवंश के लिए 36 रुपये जबकि छोटे गोवंश के लिए 18 रुपये प्रतिदिन खर्च 6 माह तक देना शुरू कर दिया है। समारोह में प्रसिद्ध रंगकर्मी संजीव शाद के नेतृत्व में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ बेटियों की गरिमा का संदेश देते हुए सशक्त नारी, मुझे माफ करना, पापा मेरे प्यारे पापा, गीत वतना दे गावां, नशा नाश दी जड़ व देशभर की सांस्कृतिक विरासती प्रस्तुति भारत उत्सव का मंचन किया। इस अवसर पर एडीसी मुनीष नागपाल, डिप्टी डीईओ संतकुमार बिश्नोई, बीईओ बलजिंद्र भंगू, एसएचओ कंवर सिंह, एमडी सुलतान सुथार प्रिंसीपल पूजा अनेजा, प्रशांत, मनोज सुथार, विनोद शर्मा, आर्य समाज अध्यक्ष जगदीश, अर्जुन सुथार, राजेंद्र सिंह, संजीव राणा, रामकिशन रहे।

स्वामी विवेकानंद स्कूल में वार्षिकोत्सव पर सांस्कृतिक प्रस्तुति देतीं छात्राएं।

ऐलनाबाद के कबीर वृद्धाश्रम में भी सांसद बोले

ऐलनाबाद के कबीर वृद्धाश्रम में भी सांसद बोले

पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव से हम अपने संस्कारों को भी भूलने लगे हैं

पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव से हम अपने संस्कारों को भी भूलने लगे हैं

ऐलनाबाद | शहर के हनुमानगढ़ रोड स्थित कबीर वृद्धाश्रम में दो दिवसीय संत समागम वृद्धाश्रम के संचालक स्वामी जित्वानंद महाराज के सान्निध्य में हुआ। राजस्थान के चुरु से आए कलाकारों ने चंग और डफ पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। बाद में प्रेमदास महाराज की याद में भजन संध्या हुई।

सीकर के सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने दकार्यक्रम का शुभारंभ किया। अध्यक्षता कबीर आश्रम भगवान धाम हरिद्वार के संत रामप्रसाद गोस्वामी ने की। कार्यक्रम में पंजाब के खरड़ से आए महामंडलेश्वर स्वामी रामस्वरूप ब्रह्मचारी, घीसा संत मंडल के राघवानंद महाराज, हरिद्वार से अखंडानंद जीराणिया, पंजाब से रामेश्वरानंद महाराज, हाजीपुर बिहार से रविंद्र व अन्य साधु संतों ने शिरकत की। स्वामी सुमेधानंद ने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से बहुत ज्यादा प्रभावित होकर हम अपनी संस्कृति और संस्कारों को भूलने लगे हैं। प्राचीन काल में प्रत्येक घर में स्वाभाविक रूप से गाय पाली जाती थी, उस समय हमारा देश न केवल आत्मनिर्भर बल्कि निरोग भी था। लेकिन पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में आकर हम अपने संस्कारों को भूलने लगे जिसके कारण घर-घर में झगड़े भी बढ़ने लगे हैं।

कार्यक्रम में स्वामी मनीषा नंद, रतनसिंह शेखावत, भगवतदयाल शर्मा, लक्ष्मीनारायण वर्मा, दीपक लाटा, सतबीर शेखावत, अवतार सिंह, प्रवीण फुटेला, देवीलाल पारीक, नानक मेहता, रवि धानुका, प्रदीप सिंहमार, भंवरलाल रहे।

ऐलनाबाद | शहर के हनुमानगढ़ रोड स्थित कबीर वृद्धाश्रम में दो दिवसीय संत समागम वृद्धाश्रम के संचालक स्वामी जित्वानंद महाराज के सान्निध्य में हुआ। राजस्थान के चुरु से आए कलाकारों ने चंग और डफ पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। बाद में प्रेमदास महाराज की याद में भजन संध्या हुई।

सीकर के सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने दकार्यक्रम का शुभारंभ किया। अध्यक्षता कबीर आश्रम भगवान धाम हरिद्वार के संत रामप्रसाद गोस्वामी ने की। कार्यक्रम में पंजाब के खरड़ से आए महामंडलेश्वर स्वामी रामस्वरूप ब्रह्मचारी, घीसा संत मंडल के राघवानंद महाराज, हरिद्वार से अखंडानंद जीराणिया, पंजाब से रामेश्वरानंद महाराज, हाजीपुर बिहार से रविंद्र व अन्य साधु संतों ने शिरकत की। स्वामी सुमेधानंद ने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से बहुत ज्यादा प्रभावित होकर हम अपनी संस्कृति और संस्कारों को भूलने लगे हैं। प्राचीन काल में प्रत्येक घर में स्वाभाविक रूप से गाय पाली जाती थी, उस समय हमारा देश न केवल आत्मनिर्भर बल्कि निरोग भी था। लेकिन पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में आकर हम अपने संस्कारों को भूलने लगे जिसके कारण घर-घर में झगड़े भी बढ़ने लगे हैं।

कार्यक्रम में स्वामी मनीषा नंद, रतनसिंह शेखावत, भगवतदयाल शर्मा, लक्ष्मीनारायण वर्मा, दीपक लाटा, सतबीर शेखावत, अवतार सिंह, प्रवीण फुटेला, देवीलाल पारीक, नानक मेहता, रवि धानुका, प्रदीप सिंहमार, भंवरलाल रहे।

X
शिक्षित समाज से ही देश तरक्की करेगा : स्वामी सुमेधानंद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..