Hindi News »Haryana »Ellenabad» शिक्षा विभाग को विद्यार्थियों की सही संख्या नहीं बता रहे स्कूल संचालक, लापरवाह निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने की तैयारी

शिक्षा विभाग को विद्यार्थियों की सही संख्या नहीं बता रहे स्कूल संचालक, लापरवाह निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने की तैयारी

जिले के सरकारी और निजी विद्यालय शिक्षा विभाग को विद्यालय में पढ़ रहे विद्यार्थियों की सही संख्या नहीं बता रहे।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 14, 2018, 02:25 AM IST

जिले के सरकारी और निजी विद्यालय शिक्षा विभाग को विद्यालय में पढ़ रहे विद्यार्थियों की सही संख्या नहीं बता रहे। स्कूलों की ओर से शिक्षा विभाग को दाे माध्यमों से भेजी गई रिपोर्ट में विद्यार्थी संख्या में 20 हजार का फर्क नजर आया है। शिक्षा विभाग की शुरुआती जांच में इसका खुलासा होने पर अब सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को जांच के आदेश दे दिए है। जहां एक ओर लापरवाह निजी स्कूलों की मान्यता रद्द का फैसला लिया जाएगा वहीं दूसरी ओर सरकारी स्कूलों के मुखियाओं पर भी कार्रवाई होगी। शिक्षा विभाग के आदेश हैं कि सभी निजी और सरकारी स्कूल विद्यार्थी संख्या की जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसके लिए दो माध्यम है। यू-डाइज ऑफलाइन यानी निर्धारित प्रफोर्मा पर भरकर जानकारी देनी होती है और एमआईएस यानी ऑनलाइन माध्यम। सभी स्कूलों ने दोनों माध्यम से विद्यार्थी संख्या दर्ज शिक्षा विभाग के पास भेजी। लेकिन शिक्षा विभाग की जांच में पता चला है कि विद्यालय के मुखियाओं ने गलत रिपोर्ट भेजी है। दोनों माध्यम से भेजी गई डिटेल में करीब 20 हजार विद्यार्थियों का अंतर नजर आ गया है। अब सर्व शिक्षा अभियान के सहायक परियोजना अधिकारी कुलवंत सिंह कारगवाल ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर आदेश जारी किए हैं कि जांच कर रिपोर्ट दें।

20 हजार विद्यार्थियों का नजर आया फर्क, सर्व शिक्षा अभियान के एपीसी ने दिए खंड शिक्षा अधिकारियों को जांच के आदेश

सिरसा जिले के विभिन्न खंडों में यह आ रहा छात्रों की संख्या में अंतर

ब्लॉक यूडाइज में एमआईएस में अंतर विद्यार्थी संख्या विद्यार्थी संख्या

सिरसा 75,920 63,331 12,589

बड़ागुढ़ा 21,317 20,262 1,055

डबवाली 40,419 37,801 2,618

ऐलनाबाद 34,136 33,961 175

नाथूसरी चौपटा 29,796 28,938 8,58

ओढ़ां 23,185 22,182 1,003

रानियां 29,465 26,085 3,380

जांच के बाद होगा कार्रवाई का निर्णय

शुरूआती जांच में खुलासा हुआ है कि स्कूल संचालकों ने सही रिपोर्ट नहीं दी। झूठी और अधूरी रिपोर्ट देने वाले निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने की सिफारिश करेंगे जबकि सरकारी स्कूलों के मुखियाओं पर भी कार्रवाई होगी। जांच के बाद आगामी फैसला लेंगे। कुलवंत सिंह कारगवाल, सहायक परियोजना अधिकारी, सर्व शिक्षा अभियान, सिरसा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ellenabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×