• Hindi News
  • Haryana
  • Faridabad
  • Faridabad News 100 years ago mahatma gandhi39s arrest was recorded in history the name of the village the pain of the people the now infamous

100 साल पहले महात्मा गांधी की गिरफ्तारी से इतिहास में दर्ज हुआ था गांव का नाम, लोगों का दर्द-अब हुए बदनाम

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:35 AM IST

Faridabad News - भोला पांडेय | फरीदाबाद/पलवल पृथला विधानसभा क्षेत्र का असावटी गांव हरियाणा का इकलौता गांव है जहां बूथ नंबर 88 पर...

Faridabad News - 100 years ago mahatma gandhi39s arrest was recorded in history the name of the village the pain of the people the now infamous
भोला पांडेय | फरीदाबाद/पलवल

पृथला विधानसभा क्षेत्र का असावटी गांव हरियाणा का इकलौता गांव है जहां बूथ नंबर 88 पर फिर से 19 मई को मतदान होगा। यह गांव 100 साल पहले 10 अप्रैल 1919 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की गिरफ्तारी के बाद इतिहास में दर्ज हुआ था। देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने 1957 में यहां आकर गांधी घर का उद‌्घाटन कर गांव की शोभा बढ़ाई थी। उसी गांधी घर से सटे राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बूथ नंबर 88 पर 12 मई को मतदान में गड़बड़ी हुई। मतदान प्रभावित करने के यहां के दो वीडियो वायरल हुए थे, जिसके बाद एफआईआर और गिरफ्तारियां हुईं। चुनाव आयोग ने पुनर्मतान के लिए आदेश दिए हैं।

8000 हजार से अधिक आबादी वाले इस गांव के अधिकतर लोग ऐसी घटना को भाईचारा बिगाड़ने की साजिश मान रहे हैं। कुछ लोग इसे प्रशासनिक लापरवाही का उदाहरण बताते हैं। 300 साल से अधिक पुराने इस गांव में आज तक सरपंच तक के चुनाव शांतिपूर्वक हुआ करते थे। गांव के कुल वोटरों की संख्या 4690 है, जिस बूथ पर गड़बड़ी हुई, वहां कुल 1271 वोटर हैं। पुनर्मतदान की घोषणा के बाद कांग्रेस प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना और बसपा प्रत्याशी मनधीर मान गांव का दौरा कर चुके हैं।

दो साल में दूसरी बार चर्चा मंे आया गांव : फरीदाबाद से करीब 22 किलोमीटर दूर बसा असावटी गांव दो साल में दूसरी बार चर्चा में है। पहली बार 22 जून 2017 को बल्लभगढ़ असावटी रेलवे स्टेशन के बीच मथुरा जा रही शटल में हुए जुनैद हत्याकांड में भी गांव चर्चा में आया था। क्योंकि उक्त हत्याकांड का मुख्य आरोपी नरेश असावटी रेलवे स्टेशन पर उतरकर गांव की ओर भागा था। स्टेशन से बाहर निकलने पर गांव के ही रहने वाले जावेद और विष्णु नामक युवकों ने उसे अनजाने में बाइक पर लिफ्ट दिया था। उस दौरान भी देशभर की मीडिया का इस गांव में जमावड़ा लगा था।

बदनाम करने के लिए रची गई साजिश : गांव निवासी सलीम खान, सराजुद्दीन, मांगेराम, सुभाष आदि ने कहा कि गांव को बदनाम करने के लिए एक साजिश रची गई। गांव को बदनाम करने वाले लोग पहले से ही प्लानिंग करके बैठे थे। उन्हांेने कहा कि जिस व्यक्ति पर जबरन वोट डलवाने का आरोप लगाया जा रहा है, उसने सिर्फ वोटर के कहने पर चुनाव चिन्ह बताया था, जबकि वोट का प्रयोग खुद वोटरों ने ही किया। उन्होंने सवाल किया कि जब बूथ के अंदर मोबाइल ले जाने की मनाही थी तो वीडियो बनाने वाले को मोबाइल क्यों ले जाने दिया। इसमें उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए जो ड्यूटी पर थे।

पहली बार प्रभावित हुआ गांव का भाईचारा

दैनिक भास्कर संवाददाता से ग्रामीणों कहा कि पहली बार एेसी घटना हुई, जिसने गांव के भाईचारे को प्रभावित किया है। गांव के सतपाल रावत, सोहनपाल, संजय, वीरेंद्र रावत, लेखराज, महेश कुमार, जगदीप, प्रीतम सिंह आदि कहते हैं कि कुछ लोगों ने राजनीतिक स्वार्थ के चलते गांव का माहौल बिगाड़ने और आपसी भाईचारे में दरार पैदा करने की कोशिश की। इस तरह की घटना से गांव की हो रही बदनामी के कारण लोग आहत हैं। उनका यहां तक कहना है कि गांव में आज तक सरपंच तक के चुनाव में कभी गड़बड़ी नहीं हुई। ये तो लोकसभा का बड़ा चुनाव है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में राजपूत आर्थिक रूप से काफी मजबूत िस्थति में हैं। सभी मिलकर गरीबों की शादी विवाह व अन्य कामों में खुलकर मदद भी करते हैं, लेकिन अब कुछ शरारती तत्व माहौल खराब करने का प्रयास कर रहे हैं।

अब तक हुई कार्रवाई

सदर थाना पलवल में दो एफआईआर दर्ज हुई।




गांव की स्थिति

गांव की आबादी : 8,000

वोटरों की संख्या : 4,690

बूथ नं. 86 पर वोटर : 1,233

बूथ नं. 87 पर वोटर : 1,107

बूथ नं. 88 पर वोटर : 1,271

बूथ नं. 89 पर वाेटर : 1,079

रि-पोल के लिए तैयार हैं ग्रामीण : ग्रामीणों को इस बात की जानकारी है कि 19 मई को रिपोल होगा। लोग इसके लिए दोबारा वोट डालने के लिए तैयार हैं। विभिन्न पार्टियों के समर्थक वोटरों की पर्चियां दोबारा तैयार करने में जुटे हैं। इस गांव में मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच ही है।

X
Faridabad News - 100 years ago mahatma gandhi39s arrest was recorded in history the name of the village the pain of the people the now infamous
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543