--Advertisement--

पहली बार थीम स्टेट से 150 क्राफ्टसमैन करेंगे शिरकत

अब तक 75 क्राफ्टसमैन ही शिरकत करते थे लेकिन 30 साल बाद मेला प्राधिकरण ने नियम को बदला है।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 06:59 AM IST
Changes rule in 30 year history of Surajkund fair

फरीदाबाद . इंटरनेशनल सूरजकुंड मेले में थीम स्टेट से अब तक 75 क्राफ्टसमैन ही शिरकत करते थे लेकिन 30 साल बाद मेला प्राधिकरण ने नियम को बदला है। इस बार थीम स्टेट से सूरजमेले में 150 क्राफ्टसमैन अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए नजर आएंगे। मेला प्राधिकरण की मानें तो इस बार थीम स्टेट यूपी है, जो कि क्षेत्रफल और आबादी के लिहाज से बहुत बड़ा है। इसीलिए हरियाणा पर्यटन विभाग की ओर से विशेष व्यवस्था के तहत मेला परिसर में क्राफ्टसमैन की संख्या बढ़ाई गई है।

बता दें, वर्ष 1987 में पहला सूरजकुंड मेला लगा था। अब 31वां सूरजकुंड मेला आयोजित होगा। शनिवार को यूपी पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मेला परिसर का दौरा किया। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल में यूपी पर्यटन विभाग की डिप्टी डायरेक्टर प्रीति श्रीवास्तव,सीनियर प्रोजेक्ट कंसलटेंट अभिजीत सहित कई अन्य अधिकारी शामिल रहे। इसके अलावा हरियाणा पर्यटन विभाग के एडिशनल चीफ सेकेट्री विजय वर्धन, सूरजकुंड मेला अधिकारी राजेश जून मौजूद रहे। मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि जनसंख्या के हिसाब से यूपी पूरे देश में सबसे बड़ा राज्य है। इसके अलावा यूपी की संस्कृति भी अलग-अलग है।

अर्धकुंभ के लिए विदेशी पर्यटकों को आमंत्रित करेगा यूपी
यूपी पर्यटन विभाग मेले में आने वाले विदेशी और स्थानीय पर्यटकों को वर्ष 2019 में इलाहबाद में लगने वाले अर्धकुंभ के बारे में भी जानकारी देगा। यूपी पर्यटन निगम के सीनियर प्रोजेक्ट कंस्लटेंट अभिजीत कुमार ने बताया कि अर्धकुंभ को प्रचारित करने का सूरजकुंड मेले से बेहतर कोई प्लेटफार्म नहीं हो सकता। विदेशी पर्यटकों को बुंदेलखंड की संस्कृति,साेनभद्र के कोल राजाओं के इतिहास के बारे में भी बताया जाएगा। वहीं मेला परिसर के अपना घर में बनारस का बुनकर परिवार आकर ठहरेगा।

इस बार मुरादाबाद की चूड़ियों से लेकर बनारस के घाट तक सूरजकुंड मेले में आएंगे नजर
यूपी पर्यटन निगम की डिप्टी डायरेक्टर प्रीति श्रीवास्तव ने बताया कि मेले में मुरादाबाद की चूड़ियों से लेकर बनारस के घाट प्रदर्शित किए जाएंगे। इसके अलावा अागरा, वाराणसी व बरेली का स्टोन क्राफ्ट, सहारनपुर अमरोहा का वूडन क्राफ्ट, मथुरा रामपुर कल्पी का पेपर क्राफ्ट, लखनऊ, आगरा व मेरठ का गोल्ड आर्ट, मुरादाबाद का मैटल क्राफ्ट, लखनऊ व वाराणसी का सिल्वर क्राफ्ट, फिरोजाबाद का ग्लास क्राफ्ट मेले में नजर आएगा।

X
Changes rule in 30 year history of Surajkund fair
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..