Hindi News »Haryana »Faridabad» Country S 400 Companies Used By Solar Energy Making Power

सौर ऊर्जा से बिजली बनाकर प्रयोग करेंगी देश की 400 कंपनियां, 52 करोड़ होंगे खर्च

पावर सेविंग के लिए अब देश की 400 कंपनियां सौर ऊर्जा से बिजली बनाकर उसका प्रयोग करेंगी।

Bhaskar news | Last Modified - Dec 18, 2017, 06:17 AM IST

सौर ऊर्जा से बिजली बनाकर प्रयोग करेंगी देश की 400 कंपनियां, 52 करोड़ होंगे खर्च

फरीदाबाद. पावर सेविंग के लिए अब देश की 400 कंपनियां सौर ऊर्जा से बिजली बनाकर उसका प्रयोग करेंगी। इसके अलावा कंपनियां बिजली बनाकर सरकार को भी सप्लाई करने का काम करेंगी। आईएएमएसएमई (इंटेग्रेटिड एसोसिएशन आफ माइक्रो स्माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज आफ इंडिया) की इस योजना में देश की 400 कंपनियां शामिल होंगी। जिनमें पंजाब की 200, फरीदाबाद से 100 और गुड़गांव की 100 कंपनियां शामिल है।

औद्योगिक संगठन की इस योजना में कुल 52 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। एक कंपनी में 25 किलोवाट का सोलर प्लांट लगाने का खर्च लगाने की लागत करीब 13 लाख रुपए आएगी। सोलर प्लांट के लिए संगठन ने दो कंपनियों से करार किया है। जनवरी माह से प्लांट लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।


संगठन पदाधिकारी उमेश गुलाटी ने बताया कि एक मध्यम उद्योग में प्रतिदिन 2 से ढाई हजार यूनिट की खपत होती है। जिसका खर्च 20 हजार रुपए आता है। सोलर प्लांट लगने के बाद बिजली की खपत 12 से 13 हजार की रह जाएगी। उद्यमी को प्रतिदिन 6 से 7 हजार रुपए की बचत होगी। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में 400 से अधिक कंपनियों को इसमें शामिल करने का प्रयास किया जाएगा। ताकि पूरे देश में उद्योगों से बिजली का लोड कम किया जा सके।

औद्योगिक संगठन के अनुसार एक कंपनी में 25 किलोवाट का सोलर प्लांट लगाया जाएगा। जिससे करीबन 15 मेगावाट बिजली तैयार होगी। संगठन के कार्यकारी सचिव लेखराज शर्मा के अनुसार सोलर प्लांट लगाने के साथ कंपनी में रिवर्स मीटर भी लगाया जाएगा। कंपनी के अवकाश के दिन सोलर प्लांट से तैयार होने वाली बिजली इस मीटर के जरिए पावर स्टेशन में चली जाएगी। क्योंकि बिजली काे स्टाॅक करके नहीं रखा जा सकता। वहीं जरूरत के हिसाब से दोबारा पावर स्टेशन से उस बिजली को उद्यमी वापस ले सकता है। कंपनी की छत पर लगाए जाने वाले सोलर प्लांट को एक पावर ग्रिड से जोड़ा जाएगा। सोलर में लगे पैनल सौर ऊर्जा को बिजली में तबदील करेंगे।

पहले चरण में इस योजना में देश की 400 कंपनियां शामिल होंगी। हालांकि कई कंपनियां पहले से ही इस पर काम कर रही है। बढ़ती पावर खपत को लेकर संगठन की ओर से यह निर्णय लिया गया है। चार माह के भीतर 400 कंपनियों में प्लांट लगाने का काम पूरा कर दिया जाएगा।
-राजीव चावला, चेयरमैन, आईएएम एसएमई।

सरकार की ओर से भी बिजली की खपत कम करने के लिए सोलर प्लांट लगाने के लिए अपील की जा रही है। उद्यमियों को काफी पहले ही इस पर काम शुरू कर देना चाहिए था। हालांकि अभी भी इस योजना पर बेहतर काम किया जा सकता है। फरीदाबाद के उद्यमियों को इसका लाभ उठाना चाहिए।
-कर्नल एस.कपूर, कार्यकारी निदेशक, एफआईए।

टाटा सोलर पावर और तोशिबा कंपनी से हुआ करार

400 कंपनियों में साेलर पावर प्लांट लगाने के लिए टाटा सोलर पावर और तोशिबा कंपनी से करार किया गया है। इन दोनों कंपनियों ने गुजरात और महाराष्ट्र में सोलर प्लांट लगाने का काम किया है। औद्योगिक संगठन के अनुसार इनसे पहले जिन सोलर कंपनियों से संपर्क किया था, वह 400 कंपनियों में सोलर प्लांट लगाने के लिए सात से अाठ माह का समय मांग रही है, जबकि इन दोनों कंपनियों से चार माह में ही प्रोजेक्ट पूरा करने का वादा किया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×