--Advertisement--

हरियाणवी सांइटिस्ट ने तैयार किया आयुर्वेदिक टूथपेस्ट, बचाएगा मुंह के कैंसर से

एक साइंटिस्ट ने एक ऐसा टूथपेस्ट तैयार किया है, जो लोगों को मुंह के कैंसर से बचाएगा।

Dainik Bhaskar

Jan 30, 2018, 07:02 AM IST
doctor balwant invented herbal toothpaste after research on oral cancer

फरीदाबाद. देश में बढ़ते ओरल कैंसर के मामलों को देखने के बाद हरियाणा के सिरसा जिले के रहने वाले एक साइंटिस्ट ने एक ऐसा टूथपेस्ट तैयार किया है, जो लोगों को मुंह के कैंसर से बचाएगा। उनके इस टूथपेस्ट को भारत सरकार की ओर से कॉमर्शियल प्रोडक्शन के लिए प्रमाणित भी किया गया है। इसके लिए उन्होंने कई साल तक मुंह के कैंसर के सेल्स पर रिसर्च की। हरियाणा के छोेटे से गांव के रहने वाले हैं डॉक्टर..

- टूथपेस्ट तैयार करने वाले डाॅ. बलवंत राय हरियाणा के सिरसा जिले के छाेटे से गांव भंगू के रहने वाले हैं।

- उन्होंने रोहतक मेडिकल कालेज से बीडीएस की डिग्री 2006 में ली। लुअन यूनिवर्सिटी बेल्जियम से 2010 में एमएस की है।

- वे यूरोपियन स्पेस एजेंसी कोपनहेगन डेनमार्क में विजिटिंग प्रोफेसर कार्यरत रहे हैं। उन्होंने अमेरिका की केपलर स्पेस यूनिवर्सिटी में दांतों पर रिसर्च किया।

- वर्तमान में डा. बलवंत जेबीआर हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च ग्रुप डेनमार्क यूएसए के बतौर प्रेसीडेंट कार्यरत हैं। उनकी पत्नी डा. जसदीप कौर ग्रुप की वाइस प्रेसीडेंट हैं।

- उन्होंने डेनमार्क में रहकर भारत में बढ़ते ओरल कैंसर के मामलों को देखने के बाद रिसर्च शुरू की। रिसर्च के बाद ऐसा हर्बल टूथपेस्ट तैयार किया, जो इन ऐसे में मरीजाें के लिए बहुत इफेक्टिव रहेगा।

- डाॅ. बलवंत राय ने टूथपेस्ट को पेटेंट कराने के लिए (इंटलेक्चुअल प्रापर्टी राइट्स इंडिया दिल्ली) आईपीआर इंडिया 2010 में अप्लाई किया है।


टूथपेस्ट में हल्दी, टमाटर और चाय का अर्क भी है
- डा. बलवंत राय और उनकी पत्नी डा. जसदीप कौर ने बताया कि टूथपेस्ट में हल्दी, टमाटर, लहसुन, सफेदा व चाय के पेड़(टी ट्री) के अर्क को शामिल किया गया है।

- ये सभी चीजें मुंह के कैंसर में उपयोगी हैं। टूथपेस्ट मुंह के कैंसर, मसूड़े सूजना, दांतों से खून आना व मसूड़ों के गलने में फायदेमंद होगा।

- दावा है कि यह एक प्योर हर्बल टूथपेस्ट है, जिसका कोई साइडइफेक्ट नहीं है।


प्री-कैंसर स्टेज के मरीजों के लिए उपयोगी होगा
- यह टूथपेस्ट ल्यकोप्लाकिया, रेड एंड व्हाइट लिजिन सबम्यूकस फिब्रोसिस, इरथिरोप्लेसिया व आेरल लाइकन प्लेनस जैसी प्री कैंसर स्टेज के मरीजों के लिए उपयोगी है। सामान्य व्यक्ति भी इसे इस्तेमाल कर सकता है।

- उन्होंने इस आयुर्वेदिक टूथपेस्ट को बनाने के लिए रिसर्च सेंटर डेनमार्क में वर्षों मुंह के कैंसर के सेल्स पर रिसर्च की है। इसी रिसर्च पर कई देशों में शोधपत्र पेश किए हैं।


क्लीनिकल ट्रायल में पास, जल्द ही आएगा मार्केट में
- इस हर्बल पेस्ट का साल 2017 में क्लीनिकल ट्रायल हुआ। इसमें यह पूरी तरह सफल रहा है। इसके बाद इस पेस्ट को गवर्नमेंट आफ इंडिया ने इंडिकेशन के साथ व्यवसायिक उत्पादन के लिए अपनी मंजूरी भी दे दी है।

- इस पेस्ट को मार्केट में लाने की तैयारियों में जुटे चौहान दंपती ने बताया कि जनवरी 2018 में इस पेस्ट को कॉमर्शियल प्रोडक्शन के लिए सर्टिफाइड कर दिया गया है।

X
doctor balwant invented herbal toothpaste after research on oral cancer
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..