--Advertisement--

पूजा डेथ मिस्ट्री: अब लड़की के पिता ने की सीबीआई जांच की मांग

पूजा डेथ मिस्ट्री में न्यायिक हिरासत में बंद निलंबित इंस्पेक्टर फर्स्ट डे से ही पुलिस की जांच थ्योरी को गलत बताता रहा है

Danik Bhaskar | Feb 13, 2018, 07:47 AM IST

फरीदाबाद . पूजा डेथ मिस्ट्री में 21 महीने से न्यायिक हिरासत में बंद निलंबित इंस्पेक्टर फर्स्ट डे से ही पुलिस की जांच थ्योरी को गलत बताता आ रहा है। वही बात अब मृतक पूजा के पिता के वकील की तरफ से हाईकोर्ट में रखते हुए इस मामले की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी, हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज या सीबीआई से कराने की मांग की गई है। इस मामले की सुनवाई सोमवार को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में महिला विरुद्ध अपराध के लिए बनी स्पेशल बेंच जज लीसा गिल की कोर्ट में हुई।

- कोर्ट में निलंबित इंस्पेक्टर अमित वशिष्ठ ने यह कहते हुए जमानत याचिका दायर कर रखी है कि पुलिस ने गलत जांच कर उसे अरेस्ट किया है। इसलिए उसे जमानत दी जानी चाहिए।

- सोमवार को जब पूजा की तरफ से वकील जमानत याचिका पर बहस के लिए कोर्ट में पेश हुए तो उन्होंने एक अर्जी दायर की। इसमें उन्होंने भी यही लिख दिया कि पुलिस की जांच भरोसे लायक नहीं है।

- केस में अगली सुनवाई 23 मार्च है। माना जा रहा है कि आरोपी अमित को अगली सुनवाई पर जमानत मिल सकती है।

जज ने जारी किया राज्य सरकार को नोटिस
- पूजा के पिता रवि तिवारी के वकील की ओर से लगाई गई अर्जी पर सुनवाई करते हुए जज लीसा गिल ने राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। प्लेन्टिफ (पीड़ित पक्ष) की ओर से इस मामले की नए सिरे से स्वतंत्र एजेंसी, हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज या सीबीआई द्वारा जांच कराए जाने को लेकर अपना जवाब देने के आदेश दिए हैं। अगली सुनवाई पर इस मामले में राज्य सरकार की ओर से चीफ सेक्रेटरी या पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद कोर्ट में पेश होकर अपना जवाब दाखिल करेंगे।

अभी तक शुरू नहीं हुआ ट्रायल
- पीड़ित पक्ष की ओर से लगाई जाने वाली अलग-अलग अर्जी और मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन होने के कारण अभी तक जिला अदालत में ट्रायल ही शुरू नहीं हो सका है। 23 मार्च को यदि हाईकोर्ट इस केस में सीबीआई जांच के आदेश दे तो फिर एक नई एफआईआर और नए सिरे से जांच शुरू होगी। तब आरोपी अमित की न्यायिक हिरासत की अवधि और बढ़ सकती है।

क्या था मामला

- इंदौर निवासी पूजा तिवारी एक अंग्रेजी वेब पोर्टल में सीनियर रिपोर्टर थीं। वह सेक्टर-46 स्थित सद्भावना अपार्टमेंट की पांचवीं मंजिल पर फ्लैट नंबर 509 में अपने दोस्त अमित और पत्रकार अमरीन खान के साथ रहती थीं।

- 1 मई 2016 की रात को पूजा का शव फर्श पर पड़ा मिला था। पुलिस ने प्रारंभ में पूजा के पिता रवि तिवारी के बयान पर पूजा को आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में एक चिकित्सक दंपती व डा. धवल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। बाद में जांच बदली और चौथे दिन पूजा के करीबी दोस्त अमित को गिरफ्तार कर लिया गया था।