--Advertisement--

घर चलाने के लिए पैसे नहीं थे, यूं बचपन के दोस्त के कहने पर करती थी ये काम

हनीट्रैप के आरोप में पकड़ी गई पीड़िता ने किया खुलासा-गरीबी के चलते पैसों के लिए लोगों के कहने पर करती थी यह काम।

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 08:20 AM IST
HoneyTrap accused arrested, reveals
पलवल(फरीदाबाद)। एक विवाहिता की गरीबी का फायदा उठाकर उसी की बचपन की साथी ने पार्लर में नौकरी लगवाने के बहाने उसे हनीट्रैप के धंधे में धकेल दिया। उक्त बातें पुलिस द्वारा हनीट्रेप के मामले में चार दिन के पुलिस रिमांड पर चल रही आरोपी रिया उर्फ सोनिया ने अपनी जुबानी दैनिक भास्कर को बताई।
- सोनिया ने बताया कि वह फरीदाबाद की रहने वाली है और तिलपत निवासी माया उर्फ माही उसके साथ पढ़ती थी। दोनों की बचपन से ही अच्छी दोस्ती थी। शादी के बाद उसने (सोनिया) एक दुकान पर बुटीक में नौकरी करनी शुरू कर दी।
- उसके बाद उसकी बचपन की सहले माही उसे मिली और कहने लगी की नोएडा में एक पार्लर है, वहां नौकरी कर ले अच्छा पैसा मिलेगा। बस उसके बाद वह अपनी सहेली की बातों में गई और नोएडा में नौकरी करने की बात पर राजी हो गई। नौकरी भी शाम से सुबह तक की बताई गई थी। इसके बाद माही ने उसकी मुलाकात अपने साथी सलीम से कराई।
- सलीम माही उसे पार्लर में नौकरी के बहाने नोएडा ले गए और वहां उसे हनीट्रैप के मामलों में लोगों को फंसाने के नाम पर एक रात के चार से पांच हजार रुपए देने की बात कही। उसने पुलिस हिरासत में रोते हुए बताया कि मजबूरी के चलते वह इस दलदल में फंस गई। और अब तक वह चार-पांच बार उनके बुलाने पर नोएडा जा चुकी है।
इस धंधे में पुलिस वाला भी था शामिल
- सोनिया ने बताया कि हनीट्रैप के इस धंधे में मोहन नगर पलवल निवासी सलीम के साथ पलवल के नांगल जाट गांव निवासी रामबीर कामनी, सिहौल गांव निवासी दिनेश कुमार, मोहन नगर पलवल निवासी सलीम की पत्नी ज्योति, शेखपुरा निवासी अशफाक उसकी पत्नी अन्नू, पलवल निवासी राजा, नोएडा के जेवर निवासी गोपाल के अलावा तीन पुलिसकर्मी भी शामिल थे।
- पुलिसकर्मी उनके द्वारा फंसाए गए व्यक्ति को केस में फंसाने की धमकी देकर मामले को ले-देकर निपटाने की बात कहते और लोगों से मोटी रकम हड़पते थे। उसने बताया कि उसके दो बच्चे हैं, पति भी प्राईवेट नौकरी करता है। शनिवार को कैंप थाने में जब सोनिया से मिलने उसका बेटा आया तो मां-बेटा थाने में ही रोने लगे।
हनीट्रैप में फंसाकर ठग चुके है लाखों रुपए
- जिला पलवल में ही आरोपी दो माह में करीब चार लोगों को हनीट्रैप के मामलों में फंसाकर लाखों रुपए हड़प चुके हैं। जांच अधिकारी चंदन सिंह ने बताया कि 27 नवंबर को पलवल निवासी देव उर्फ अभिषेक को शादी के लिए लड़की दिखाने के बहाने ले जाकर तीन लाख 17 हजार रुपए ठगे।
- वहीं होडल निवासी रमेश कुमार को 16 अक्टूबर को गुड़गांव फ्लैट दिखाने के बहाने बुलाकर चाय में नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया और गाड़ी में नोएडा ले गए। नोएडा में उसे हनीट्रैप के मामले में फंसाकर एक करोड़ की मांग की गई, लेकिन बाद में 16 लाख 80 हजार रुपए देकर वह आरोपियों के चंगुल से छूटकर घर गया। इसी प्रकार दो-तीन अन्य मामले में उजागर हुए हैं।
आरोपियों के ठिकानों पर पुलिस दे रही है दबिश
- मामले की जांच कर रहे कैंप थाना के जांच अधिकारी चंदन सिंह ने बताया कि हनीट्रैप के मुख्य आरोपियों की गिरफ्तार के लिए शुक्रवार की रात पुलिस ने नोएडा, गुडगांव, फरीदाबाद पलवल में उनके ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके।
- पुलिस का कहना है कि जल्द ही मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी कर इस मामले में शामिल नोएडा पुलिस के कर्मचारियों के बारे में जानकारी हासिल की जाएगी। जानकारी होने पर पुलिसकर्मियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा।
X
HoneyTrap accused arrested, reveals
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..